Home /News /nation /

नेताजी की जयंती पर ममता बनर्जी ने मोदी सरकार से की ये मांग, कहा-घोषित हो राष्ट्रीय छुट्टी

नेताजी की जयंती पर ममता बनर्जी ने मोदी सरकार से की ये मांग, कहा-घोषित हो राष्ट्रीय छुट्टी

नेताजी की जयंती के दिन राष्ट्रीय अवकाश घोषित करने की मांग. (ANI)

नेताजी की जयंती के दिन राष्ट्रीय अवकाश घोषित करने की मांग. (ANI)

National holiday on Subahsh Chandra bose birthday:पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) ने नरेंद्र मोदी सरकार से मांग की है कि नेताजी की जयंती के दिन राष्ट्रीय अवकाश (National Holiday) घोषित किया जाए. ममता बनर्जी ने कहा है कि पूरे देश के लोग अपने महान राष्ट्रनायक (National leader) को श्रद्धांजलि दें, इसके लिए जरूरी है कि नेताजी जन्मदिवस के दिन राष्ट्रीय छुट्टी हो. उन्होंने कहा कि अपने नेताजी को सच्ची श्रद्धांजलि देने का सबसे बेहतर तरीका यह होगा इस दिन को देशनायक दिवस के रूप में मनाया जाए और इस दिन पूरे देश में छुट्टी हो.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. देश के महान नायक नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती (SubhashChandraBose’s birthday ) पर राजनीतिक सरगर्मी तेज हो गई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने हाल ही में घोषणा की है कि अब 23 जनवरी से नेताजी की जयंती के दिन से गणतंत्र दिवस समारोह (Republic day parade) का आयोजन शुरू हो जाएगा. इसके बाद सभी राजनीतिक पार्टियां अपने-अपने तरह से नेताजी (Netaji) के नाम को भुनाने की कोशिश में लगी हैं. अब पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) ने नरेंद्र मोदी सरकार से मांग की है कि नेताजी की जयंती के दिन राष्ट्रीय अवकाश (National Holiday) घोषित किया जाए. ममता बनर्जी ने कहा है कि पूरे देश के लोग अपने महान राष्ट्रनायक (National leader) को श्रद्धांजलि दें, इसके लिए जरूरी है कि नेताजी जन्मदिवस के दिन राष्ट्रीय छुट्टी हो. उन्होंने कहा कि अपने नेताजी को सच्ची श्रद्धांजलि देने का सबसे बेहतर तरीका यह होगा इस दिन को देशनायक दिवस के रूप में मनाया जाए और इस दिन पूरे देश में छुट्टी हो.

हम सिर्फ चुनाव के समय नहीं मनाते नेताजी की जयंती
शनिवार को नेताजी को श्रद्धांजलि अर्पित करने के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक रैली का आयोजन किया था. इसमें तृणमूल कांग्रेस के अनेक नेता, विधायक समेत सैकड़ों लोग शामिल हुए. इससे पहले सवा बारह बजे सायरन भी बजाया गया, 23 जनवरी 1897 को इसी समय बोस का जन्म हुआ था.रैली को संबोधित करते हुए ममता बनर्जी ने कहा, हम सिर्फ चुनाव के समय नेताजी की जयंती नहीं मनाते. इस बार हम उनकी 125वीं जयंती बहुत बड़े पैमाने पर मना रहे हैं. रवीन्द्रनाथ टैगोर ने नेताजी को देशनायक बताया था. इसलिए हमने इस दिन को देशनायक दिवस बनाने का फैसला किया है. उन्होंने कहा, नेताजी देश के महान स्वतंत्रता सेनानियों में से एक थे. वह एक महान दार्शनिक थे. ममता बनर्जी ने इसी समारोह में देश में चार राजधानियों की मांग की.

नेताजी की बेटी ने इंडिया गेट पर प्रतिमा का किया स्वागत
इधर, दिल्ली के इंडिया गेट पर ‘नेताजी’ की प्रतिमा स्थापित करने के मोदी सरकार के फैसले से सुभाष चंद्र बोस का परिवार खुश है. नेताजी सुभाष चंद्र बोस की बेटी अनिता बोस फाफ ने कहा है कि सुभाष चंद्र बोस भारतीयों के दिलों में रहते थे और रहते हैं, वे आगे भी देश के लोगों के दिलों में रहेंगे. लेकिन तृणमूल कांग्रेस नेताजी की प्रतिमा के बहाने भाजपा पर तंज कसा है. पार्टी ने नेताजी की प्रतिमा लगाने के केंद्र के फैसले का स्वागत किया है, लेकिन साथ ही यह भी कहा कि गणतंत्र दिवस परेड के लिए राष्ट्रवादी नेता बोस पर आधारित पश्चिम बंगाल की झांकी को खारिज किए जाने के बाद हो रही आलोचना का मुकाबला करने के लिए यह कदम उठाया है. तृणमूल ने कहा कि यदि केंद्र सरकार नेताजी के लापता होने के रहस्य को उजागर करने के लिए कदम उठाती तो यह उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि होती.

Tags: Mamata banerjee, West bengal

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर