लाइव टीवी

JNU को 2 साल के लिए कर देना चाहिए बंद: सुब्रमण्यम स्वामी

भाषा
Updated: November 26, 2019, 11:36 PM IST
JNU को 2 साल के लिए कर देना चाहिए बंद: सुब्रमण्यम स्वामी
भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने मंगलवार को कहा कि JNU को दो साल के लिए बंद कर दिया जाना चाहिए (फाइल फोटो, PTI)

भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी (BJP MP Subramanian Swamy) ने कहा, "नेहरू (Nehru) के नाम पर बहुत से संस्थान हैं. ऐसे में JNU का नाम बदलकर बोस के नाम पर रखने से छात्रों पर सकारात्मक प्रभाव (Positive Effect) पड़ेगा.’’

  • भाषा
  • Last Updated: November 26, 2019, 11:36 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी (BJP MP Subramanian Swamy) ने मंगलवार को कहा कि जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) को दो साल के लिए बंद कर देना चाहिए और असामाजिक तत्वों को बाहर निकालकर, विश्वविद्यालय का नाम बदलकर सुभाष चंद्र बोस विश्वविद्यालय (Subhas Chandra Bose University) करने के बाद इसे पुनः खोलना चाहिए.

स्वामी ने एक कार्यक्रम से इतर संवाददाताओं से कहा, ‘‘नेहरू (Nehru) के नाम पर बहुत से संस्थान हैं. ऐसे में JNU का नाम बदलकर बोस के नाम पर रखने से छात्रों पर सकारात्मक प्रभाव (Positive Effect) पड़ेगा.’’

छात्रों ने फीस वृद्धि को लेकर किया था भारी विरोध प्रदर्शन
बता दें कि दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (Jawaharlal Nehru University) के छात्रों का फीस वृद्धि को लेकर लगातार विरोध जारी है. कुछ दिन पहले JNU स्टूडेंटस ने भारी पुलिस बल की मौजूदगी में विश्वविद्यालय से संसद (Parliament) की तरफ मार्च निकालने की कोशिश की थी. जेएनयू के ये छात्र हॉस्टल मेन्युअल (Hostel Manual) में हुए बदलाव और फीस वृद्धि को लेकर पिछले कई दिनों से मार्च करते आ रहे थे.

जेएनयू में हुई इस फीस वृद्धि के बाद से जेएनयू हॉस्टल (JNU Hostel) में जो छात्र अकेले एक कमरे में रहते हैं उन्हें हर माह का 600 रुपये देना होगा जो कि पहले 20 रुपये होता था, वहीं जो छात्र टू सीटर कमरे में रहते हैं उन्हें महीने का 100 रुपये देना होगा जो कि पहले 10 रुपये होता था. हालांकि इस वृद्धि को आंशिक रूप से कम करके 200 और 100 रुपये किया गया था.

100 प्रदर्शनकारी स्टूडेंटस को प्रदर्शन के बाद लिया गया था हिरासत में
प्रदर्शनकारी स्टूडेंटस ने बढ़ी फीस के विरोध में मार्च निकाला था और उन्होंने जेएनयू परिसर (JNU Campus) के मुख्य द्वार पर लगाए गए बैरिकेड तोड़ दिए. इसके बाद छात्र बाबा गंगनाथ मार्ग की ओर बढ़ गए थे. पुलिस ने जेएनयूएसयू अध्यक्ष आइशी घोष, सचिव सतीश चंद्र यादव और जेएनयूएसयू के पूर्व अध्यक्ष एन साई बालाजी सहित करीब 100 प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया था.
Loading...

फिलहाल JNU स्टूडेंटस के लिए थोड़ी राहत की खबर है क्योंकि सरकार की ओर से गठित तीन सदस्यीय उच्चस्‍तरीय सिमति (HLC) ने डीन ऑफ स्टूडेंट्स ऑफिस को अपनी बढ़ी फीस को कम किए जाने की सिफारिश (Recommendation) सौंप दी है.

यह भी पढ़ें: अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में आरक्षण लागू करवाएगी ABVP !

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 26, 2019, 11:36 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...