पश्चिम बंगाल में रेलवे के 90 ड्राइवर और गार्ड कोरोना संक्रमित, लोकल ट्रेनों की आवाजाही पर असर

पश्चिम बंगाल में लोकल 
ट्रेनों की सेवाओं पर असर. (PTI File Photo)

पश्चिम बंगाल में लोकल ट्रेनों की सेवाओं पर असर. (PTI File Photo)

West Bengal Suburban Train Services: पश्चिम बंगाल में कोविड-19 के कारण सात महीने से ज्यादा वक्त तक बंद रहने के बाद 11 नवंबर, 2020 से लोकल ट्रेन सेवा बहाल की गई थी.

  • Share this:
कोलकाता. पूर्व रेलवे ने मंगलवार को कहा कि 90 ड्राइवरों और गार्ड के कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद उसने अभी तक सियालदह संभाग की 56 लोकल ट्रेनें रद्द की हैं. एक अधिकारी ने बताया कि अभी तक हावड़ा संभाग की ट्रेनें रद्द करने पर कोई फैसला नहीं किया गया है.

पूर्वी रेलवे के प्रवक्ता एकलव्य चक्रवर्ती ने पीटीआई/भाषा को बताया, ‘स्थिति बहुत गंभीर है. कोविड-19 के कारण 90 ड्राइवर और गार्ड ड्यूटी पर आने में अक्षम हैं. हमें 56 लोकल ट्रेनें रद्द करनी पड़ी हैं ताकि मालगाड़ी और एक्सप्रेस ट्रेनों की सेवा पर असर ना पड़े.’

उन्होंने कहा, ‘जहां तक संभव है, ‘नॉन पीक आवर्स’ (ऐसा समय जब भीड़ कम होती है) की ट्रेनों को रद्द किया गया है ताकि यात्रियों को कम से कम परेशानी हो.’ पश्चिम बंगाल में कोविड-19 के कारण सात महीने से ज्यादा वक्त तक बंद रहने के बाद 11 नवंबर, 2020 से लोकल ट्रेन सेवा बहाल की गई थी.


कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर भारतीय रेल ने हाल ही में घोषणा की है कि रेलवे के परिसरों और ट्रेन के भीतर मास्क नहीं लगाने पर यात्री को 500 रुपये का जुर्माना भरना होगा.

(Disclaimer: यह खबर सीधे सिंडीकेट फीड से पब्लिश हुई है. इसे News18Hindi टीम ने संपादित नहीं किया है.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज