Assembly Banner 2021

सुधांशु त्रिवेदी ने किया असम में जीत BJP की दावा, बोले- 10 साल के संकल्प को 5 साल में पूरा किया

बीजेपी नेता ने कहा, असम में 1.6 लाख लोगों को भूमि के स्वामित्व के लिए पीएम नरेंद्र मोदी ने पट्टा दिया.

बीजेपी नेता ने कहा, असम में 1.6 लाख लोगों को भूमि के स्वामित्व के लिए पीएम नरेंद्र मोदी ने पट्टा दिया.

Assam Assembly Elections: बीजेपी सांसद सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि पिछले 5 सालों में असम में आधारभूत संरचना के क्षेत्र में काफी विकास हुए हैं. असम में 2018 तक 4300 किलोमीटर रोड बनाया गया. जिससे असम में कनेक्टिविटी को बढ़ावा मिला.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 24, 2021, 6:53 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. लोक नीति शोध केंद्र द्वारा तैयार शोध के आधार पर बीजेपी सांसद सुधांशु त्रिवेदी (BJP MP Sudhanshu Trivedi) ने दावा किया कि असम में बीजेपी (BJP) शासित सरकार ने बेहतर काम किया है और अपने 10 साल के संकल्प का दो तिहाई काम 5 साल में ही पूरा कर लिया. सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि पहली बार असम में ऐसी पारदर्शी सरकार बनी जिसने सूचित को बढ़ावा दिया और नौकरशाही पर लगाम लगाई.

शोध में यह भी कहा गया है कि पिछले 5 साल में 119 स्कूल टी गार्डन में शुरू किए गए जिससे वहां काम करने वाले लोगो को काफी फायदा हुआ. इसके साथ ही था असम के 269 स्कूल को वोकेशनल स्कूल से जोड़ा गया . देश का पहला खेल विश्वविद्यालय असम में स्थापित किया गया.

5 सालों में असम में हुआ विकास
रिपोर्ट के आधार पर बीजेपी सांसद सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि पिछले 5 सालों में असम में आधारभूत संरचना के क्षेत्र में काफी विकास हुए हैं. असम में 2018 तक 4300 किलोमीटर रोड बनाया गया. जिससे असम में कनेक्टिविटी को बढ़ावा मिला. इसके साथ ही साथ असम में 6 पुल का निर्माण बीजेपी शासन के दौरान ही हुआ, जिससे भी प्रदेश के विभिन्न हिस्सों को एक दूसरे से जोड़ा गया. असम देश का पहला ऐसा राज्य बना जिसमें प्रत्येक जिले में कम से कम एक गांव को डिजिटल किया गया. इसके साथ ही साथ असम के प्रत्येक घर तक बिजली पहुंचाई गई.
ये भी पढ़ेंः- महामारीः लॉकडाउन, त्योहारों पर गाइडलाइंस, क्या कोरोना फिर लाएगा मुसीबत?



भूमि के स्वामित्व के लिए दिया गया पट्टा
लोक नीति शोध केंद्र के शोध के अनुसार असम के लोगों को जमीन काम मालिकाना हक बीजेपी सरकार के दौरान ही दी गई. असम में 1.6 लाख लोगों को भूमि के स्वामित्व के लिए पीएम नरेंद्र मोदी ने पट्टा दिया. और अब तक 2. 8 लाख लोगों को स्वामित्व का पट्टा दिया जा चुका है. सुधांशु त्रिवेदी का कहना है कि घुसपैठ को लेकर के असम की सरकार ने कई कदम उठाए हैं. उनका कहना है कि जल्द ही असम सीमा पर फेंसिंग का काम पूरा कर लिया जाएगा, जिससे घुसपैठ पर नियंत्रण पाया जा सके.

उनका कहना है कि गृह मंत्री अमित शाह कह चुके हैं कि कोरोना काल के बाद घुसपैठियों को वापस भेजा जाएगा. एनआरसी पर कांग्रेस सहित विपक्षी पार्टियों के आरोपों का जवाब देते हुए त्रिवेदी ने कहा कि असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई सहित कई वरिष्ठ नेता एनआरसी की वकालत कर चुके हैं तरुण गोगोई ने तो एनआरसी को अपना ब्रेंचाइल्ड बताया था. अब वे राजनीतिक कारणों से इसका विरोध कर रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज