सुदीक्षा भाटी केस: बुलेट सवार आरोपियों की जानकारी देने पर मिलेगा 20 हजार का इनाम

सुदीक्षा भाटी केस: बुलेट सवार आरोपियों की जानकारी देने पर मिलेगा 20 हजार का इनाम
सुदीक्षा भाटी की रोड एक्सीडेंट में हुई थी मौत (फाइल फोटो)

सुदीक्षा भाटी (Sudiksha Bhati) मामले में SP ने कहा, ‘ हम जिले में पंजीकृत प्रत्येक बुलेट का पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं और जांच कर रहे हैं. मामले की जांच करते हुए हमने इस मामले में शामिल बुलेट या उसके चालकों की जानकारी देने वालों को 20,000 रुपये की इनाम देने की घोषणा की है.’

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 14, 2020, 9:44 PM IST
  • Share this:
बुलंदशहर. सुदीक्षा भाटी (Sudiksha Bhati) मौत मामले में ‘छेड़छाड़’ होने से इनकार करने के एक दिन बाद बुलंदशहर पुलिस (Bulandshahr Police) ने 10 अगस्त को हुई दुर्घटना के मामले में बुलेट सवार आरोपियों के बारे में पुख्ता जानकारी देने वालों को 20,000 रुपये इनाम देने की घोषणा की है. वहीं, सुदीक्षा के परिजनों को सांत्वना देने गांव आ रहे लोगों के कारण कोरोना वायरस के प्रसार के मद्देनजर प्रशासन ने अलर्ट जारी करते हुए लोगों से कोरोना दिशा-निर्देशों के पालन की अपील की है.

दरअसल, गांव आए गाजियाबाद निवासी एक व्यक्ति के संक्रमित होने की पुष्टि के बाद गांव में स्वास्थ्य विभाग द्वारा की गई जांच में एक और व्यक्ति संक्रमित पाया गया है. वरिष्ठ एसपी संतोष कुमार सिंह ने कहा, ‘ ऐसी जानकारी है कि बुलेट मोटरसाइकिल थी और इस पर दो लोग सवार थे. उन्होंने अचानक आपात ब्रेक लिया जिसकी वजह से सुदीक्षा का दो पहिया वाहन पीछे से इससे टकरा गया. दुर्घटना में घायल होने वजह से उसकी मौत हो गई.’ SP ने कहा, ‘ हम जिले में पंजीकृत प्रत्येक बुलेट का पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं और जांच कर रहे हैं. मामले की जांच करते हुए हमने इस मामले में शामिल बुलेट या उसके चालकों की जानकारी देने वालों को 20,000 रुपये की इनामी राशि की घोषणा की है.’

अमेरिका के बासन कॉलेज से कर रही थी स्नातक



जिला पुलिस प्रमुख ने बताया कि जानकारी देने वाले अगर अपनी पहचान नहीं जाहिर करना चाहेंगे तो इसे गुप्त रखा जाएगा. उन्होंने कहा कि जांच जारी है और इसका प्रयास है कि कोई निर्दोष व्यक्ति जेल न पहुचे बल्कि वास्तविक दोषी का पता चले और उसे न्याय के कठघरे में खड़ा किया जा सके. बता दें कि गौतमबुद्ध नगर जिले के दादरी में डेरी स्केनर गांव की निवासी 20 वर्षीय सुदीक्षा की बुलंदशहर जिले में सड़क दुर्घटना में मौत हो गई थी. दुर्घटना के समय वह अपने छोटे चचेरे भाई के साथ मोटरसाइकिल पर जा रही थीं. 20 साल की सुदीक्षा अकादमिक रूप से बेहतरीन छात्रा थीं. वह 3.80 करोड़ रुपये की छात्रवृत्ति पर अमेरिका के मैसाच्युसेट्स के बाबसन कॉलेज में स्नातक का कोर्स कर रही थीं और 20 अगस्त को वापस अमेरिका जाने वाली थी.
‘मामले में अभी तक उत्पीड़न की पुष्टि नहीं’

एसपी संतोष कुमार सिंह ने कहा, 'ऐसा प्रतीत होता है कि उसका शव गांव पहुंचने के बाद कुछ लोगों ने घटना का रुख बदलने की कोशिश की. चूंकि छात्रा को (अमेरिका में पढ़ाई के लिए) भारी छात्रवृत्ति मिली थी, ऐसे में हो सकता है कि लोग (मुआवजा) मांगने की सोच रहे हों.' अधिकारी ने कहा, ‘ इस घटना के बारे में बातें जोड़कर नए तरीके से इसे बताने की कोशिश की गई. और अगर एक झूठ को 50 लोग बार-बार बोलें तो वह झूठ भी सच जैसा प्रतीत होने लगता है.’ उन्होंने कहा कि अब तक की जांच और प्रत्यक्षदर्शियों के बयान के आधार पर अभी तक यह पुष्टि नहीं हो सकी है कि यह उत्पीड़न का मामला है.

सुदीक्षा के परिजनों से मिला शख्स निकला कोरोना पॉजिटिव

उधर, सुदीक्षा के परिजनों को सांत्वना देने के लिए बड़ी संख्या में लोग गांव डेरी स्केनर आ रहे हैं. इन्हीं में से एक व्यक्ति कोरोना से संक्रमित पाया गया है. उसके संपर्क में आये एक अन्य व्यक्ति में भी संक्रमण की पुष्टि हुई है. अपर उपायुक्त (जोन द्वितीय) अंकुर अग्रवाल ने बताया कि सुदीक्षा की मौत पर संवेदना व्यक्त करने के लिए 11 व 12 अगस्त को शास्त्री नगर गाजियाबाद निवासी व्यक्ति गांव आया और परिजनों से मिला. उक्त व्यक्ति के 13 अगस्त को संक्रमित होने की पुष्टि हुई. इस जानकारी के बाद गांव डेरी स्केनर में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने जांच की. इसमें गाव निवासी एक व्यक्ति संक्रमित पाया गया. उन्होंने कहा की दोनों लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. अग्रवाल ने कहा कि गांव में लोगों से दो गज की दूरी समेत कोरोना के दिशा-निर्देशों पर अमल की अपील की गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज