Home /News /nation /

कभी नेता, कभी जज तो कभी बड़ा अफसर- जानें कौन है सुकेश चंद्रशेखर, जिसका जैकलीन फर्नांडिज से ठगी में आ रहा नाम

कभी नेता, कभी जज तो कभी बड़ा अफसर- जानें कौन है सुकेश चंद्रशेखर, जिसका जैकलीन फर्नांडिज से ठगी में आ रहा नाम

2017 में चुनाव आयोग रिश्वत मामले में सुकेश चंद्रशेखर को एक होटल से गिरफ्तार कर तिहाड़ जेल ले जाया गया था. (फोटो: News18 Tamil)

2017 में चुनाव आयोग रिश्वत मामले में सुकेश चंद्रशेखर को एक होटल से गिरफ्तार कर तिहाड़ जेल ले जाया गया था. (फोटो: News18 Tamil)

ईडी ने पिछले हफ्ते चंद्रशेखकर के चेन्नई स्थित आलीशान बंगले, 82.5 लाख नगद और दर्जनों महंगी कारों को 'जब्त' किया था. प्रवर्तन निदेशालय से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, जैकलीन फर्नांडिज (Jacqueline Fernandez) भी चंद्रशेखर की ठगी का शिकार हो चुकी हैं और इस मामले में उन्हें बतौर गवाह पूछताछ के लिए बुलाया गया.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. खुद को किसी राजनेता का रिश्तेदार, सुप्रीम कोर्ट का जज, मंत्रालयों का बड़ा अधिकारी बताकर अमीरों से रुपये ऐंठने के मामले में तिहाड़ जेल (Tihar Jail) में बंद ठग सुकेश चंद्रशेखर का नाम एक बार फिर सुर्खियों में है. प्रवर्तन निदेशालय ने सोमवार को बॉलीवुड अभिनेत्री जैकलीन फर्नांडिज (Jacqueline Fernandez) को मनी लॉन्ड्रिंग केस में पूछताछ के लिए बुलाया. वहीं सूत्रों के मुताबिक, फर्नांडिज भी चंद्रशेखर की ठगी का शिकार हो चुकी हैं और इस मामले में उन्हें बतौर गवाह पूछताछ के लिए बुलाया गया. इससे पहले ईडी ने पिछले हफ्ते मनी लॉन्ड्रिंग केस में चंद्रशेखकर के चेन्नई स्थित आलीशान बंगले, 82.5 लाख नगद और दर्जनों महंगी कारों को ‘जब्त’ किया था. चंद्रशेखर पर तिहाड़ जेल से ही 200 करोड़ रुपये के वसूली रैकेट चलाने के आरोप हैं.

    कौन है सुकेश चंद्रशेखर
    कर्नाटक के बेंगलुरु के रहने वाले चंद्रशेखर ने कथित रूप से महज 17 साल की उम्र से ही लोगों को ठगना शुरू कर दिया था. उसने काले कारनामों की शुरुआत बेंगलुरु से की और कुछ ही समय में चेन्नई पहुंच गया. इसके बाद उसने बड़े शहरों में कई अमीर लोगों को ठगी का शिकार बनाया. चंद्रशेखर को बालाजी के नाम से भी जाना जाता है. उसने नौकरी दिलानों के नाम कई लोगों से रुपये ऐंठे. खबर है कि खुद के राजनेता का रिश्तेदार बताकर उसने 100 से ज्यादा लोगों से 75 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की है.

    चंद्रशेखर के खिलाफ दर्ज मामले
    2017 में चुनाव आयोग रिश्वत मामले में चंद्रशेखर को एक होटल से गिरफ्तार कर तिहाड़ जेल ले जाया गया था. आरोप था कि उसने ‘दो पत्तियों’ वाले चुनावी चिन्ह के मामले में आयोग के अधिकारियों को रिश्वत देने के लिए AIADMK (अम्मा) नेता टीटीवी दिनाकरण से रुपये लिए थे. कहा जा रहा है कि उसने AIADMK (अम्मा) गुट को चुनावी चिन्ह दिलाने के लिए 50 करोड़ रुपये में डील की थी. गिरफ्तारी के वक्त उसके पास से कथित रूप से 1.3 करोड़ रुपये बरामद हुए थे. तिहाड़ जेल में बंद होने के बाद खबरें आई थी कि हवालात में होने के बाद भी वह करोड़ रुपये की वसूली का रैकेट चला रहा है.

    यह भी पढ़ें: लखनऊ: IAS रजनीश दुबे के निजी सचिव का सुसाइड लेटर मिला, जानिए आत्महत्या की वजह

    जबरन वसूली रैकेट का कैसे हुआ खुलासा
    ईडी सूत्रों के हवाले से समाचार एजेंसी IANS ने बताया कि नया मामला फोर्टिस प्रमोटर शिविंदर सिंह की पत्नी अदिति एस सिंह की शिकायत पर दर्ज किया गया है. उन्होंने आरोप लगाया है कि वे 200 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी का शिकार हुई हैं. उन्होंने बताया कि कॉल करने वाले शख्स ने खुद को कानून मंत्रालय का अधिकारी बताया था और उनके पति को जमानत दिलाने का वादा किया था. दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ने अदिति सिंह की शिकायत पर मामला दर्ज कर लिया है. एक पुलिस अधिकारी ने जानकारी दी कि मामले की जांच के बाद पता चला कि इसके पीछे का मास्टरमाइंड सुकेश चंद्रशेखर है.

    जैकलीन फर्नांडिज का नाम आया सामने
    200 करोड़ रुपये के मनी लॉन्ड्रिंग मामले में एक्ट्रेस से सोमवार को पूछताछ की गई. एनडीटीवी की रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से बताया गया कि फर्नांडिज इसी रैकेट का शिकार भी हुई हैं. ईडी सूत्रों के हवाले से जानकारी दी गई कि 36 वर्षीय एक्ट्रेस रैकेट के कथित मास्टरमाइंड सुकेश चंद्रशेखकर के रडार पर आ गई थीं. इस काम में ठग की साथी लीना पॉल ने उनकी मदद की थी. एनडीटीवी की रिपोर्ट के अनुसार, ईडी के अधिकारी ने बताया, ‘वे आरोपी नहीं हैं, लेकिन ठग सुकेश चंद्रशेखर के खिलाफ मामले में गवाह के तौर पर उनकी जांच की जा रही है.’ रिपोर्ट के मुताबिक, एजेंसी के सूत्रों ने जानकारी दी है कि जांच में सामने आया है कि बॉलीवुड के कई बड़े स्टार सुकेश के निशाने पर चुके थे.

    Tags: Conman, Jacqueline fernandez, Sukesh Chandrasekhar

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर