नहीं रहीं 15000 महिलाओं की डिलीवरी कराने वाली नरसम्मा

सुलगट्टी की निधन की खबर सुन कर कर्नाटक के पूर्व सीएम बीएस येदियुरप्पा अस्पताल पहुंचे और श्रद्धांजलि दी.

News18Hindi
Updated: December 26, 2018, 8:12 AM IST
नहीं रहीं 15000 महिलाओं की डिलीवरी कराने वाली नरसम्मा
नरसम्मा (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: December 26, 2018, 8:12 AM IST
जननी अम्मा के नाम से मशहूर कर्नाटक निवासी पद्मश्री सुलगट्टी नरसम्मा का 98 साल की उम्र में निधन हो गया. इसी साल कृषि मजदूर सुलगत्ती नरसम्मा को पद्म श्री से नवाजा गया था. उन्होंने कर्नाटक के पिछड़े इलाकों में बगैर किसी मेडिकल सुविधा के दाई की सेवाएं मुहैया कराई थी.

सांस की बीमारी के चलते सुलगट्टी 29 नवंबर से ही कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु स्थित BGS अस्पताल में भर्ती थीं. बीते पांच दिनों से वह वेंटिलेटर पर थीं. अस्पताल प्रशासन के अनुसार, सुलगट्टी ने तीन बजे आखिरी सांस ली. नरसम्मा अपने पीछे चार बेटे, तीन बेटियां, छत्तीस पौत्र और प्रपौत्र छोड़ गई हैं.



सुलगट्टी की निधन की खबर सुन कर कर्नाटक के पूर्व सीएम बीएस येदियुरप्पा अस्पताल पहुंचे और श्रद्धांजलि दी.


Loading...

साल 2014 में सुलगट्टी को तुमकुर विश्वविद्यालय डॉक्टरेट से सम्मानित किया गया. कर्नाटक सरकार ने सुलगट्टी को राज्योत्सव पुरस्कार से भी सम्मानित किया है.अम्मा ने तकरीबन 15000 बच्चों का सुरक्षित प्रसव करवाया था.

यह भी पढ़ें:  बिहार के इस रणजी खिलाड़ी ने मचाई सनसनी, चटकाए 12 विकेट
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...