दिल्ली में जरूर हुआ कोई सुपर स्प्रेडिंग इवेंट इसीलिए तेजी से बढ़े कोरोना केस

एम्स के डायरेक्टर रणदीप गुरेलिया. (तस्वीर-ANI)
एम्स के डायरेक्टर रणदीप गुरेलिया. (तस्वीर-ANI)

रणदीप गुलेरिया (Dr. Randeep Guleria) ने कहा है कि त्योहारों के मद्देनजर सोशल डिस्टेंसिंग का नियम न फॉलो करते हुए ऐसे इवेंट हुए जिनकी वजह से मामलों में तेजी आई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 11, 2020, 8:04 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. एम्स के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया (Dr. Randeep Guleria) ने कहा है कि दिल्ली (Delhi) में जरूर कोई सुपर स्रेडिंग इवेंट (Superspreading Event) हुआ है जिसकी वजह से इतनी तेजी से कोरोना के नए मामले बढ़े हैं. उन्होंने कहा है कि त्योहारों के मद्देनजर सोशल डिस्टेंसिंग का नियम न फॉलो करते हुए ऐसे इवेंट हुए जिनकी वजह से मामलों में तेजी आई. उन्होने कहा है- दरअसल होता है ये है कि कहीं भीड़-भाड़ वाली जगह पर कोई संक्रमित व्यक्ति बिना मास्क मौजूद होता है तो वो कई लोगों को संक्रमित कर सकता है. ऐसे में उस व्यक्ति से संक्रमित हुए लोग भी आगे बीमारी का प्रसार करते हैं. इस तरह के सुपर स्रेडिंग इवेंट महामारी को तेजी से फैलाने में प्रेरक की भूमिका निभाते हैं. दिल्ली में तेजी से बढ़ते मामलों के पीछे यह वजह हो सकती है.

दिल्ली में आ चुकी है कोरोना की तीसरी वेव
गौरतलब है कि देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस की तीसरी वेव ने कोहराम मचाया हुआ है. तकरीबन रह रोज 6 से 7 हजार मामले सामने आ रहे हैं. बढ़ते मामलों के बीच अस्पतालों में बेड्स की संख्या को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM arvind kejriwal) ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन को एक लेटर लिखा है. इसमें अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार से केन्द्र के अस्पतालों (Hospital) में 1092 बेड्स बढ़ाने को कहा है. इसमे 300 आईसीयू बेड्स भी शामिल हैं. केजरीवाल ने डॉ. वीके पॉल समिति की रिपोर्ट का ज़िक्र भी किया है. रिपोर्ट के मुताबिक आने वाले दिनों में 11909 मामले प्रतिदिन सामने आ सकते हैं.


चार लाख से ज्यादा लोग हो चुके हैं संक्रमित


राज्य में अब तक कोरोना के साढ़े चार लाख से ज्यादा से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं. हालांकि इनमें 4 लाख 2 हजार लोग रिकवर भी हो चुके हैं. इस वक्त राज्य में एक्टिव केस की संख्या 41,385 है. राज्य में कुल 7143 ने महामारी की वजह से जान गंवाई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज