लाइव टीवी

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से पूछा, जम्मू-कश्मीर में और कब तक जारी रहेगी रोक

News18Hindi
Updated: October 24, 2019, 2:49 PM IST
सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से पूछा, जम्मू-कश्मीर में और कब तक जारी रहेगी रोक
सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से पूछा, जम्मू-कश्मीर में और कब तक जारी रहेगी रोक

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में इंटरनेट सेवाओं पर लगाए गए प्रतिबंधों पर भी सवाल उठाए और कहा जल्द ही सेवाएं बहाल की जाएं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 24, 2019, 2:49 PM IST
  • Share this:
जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में आर्टिकल 370 (Article 370) हटाए जाने के बाद से लगाए गए प्रतिबंध पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने केंद्र सरकार (Central Government) को फटकार लगाई है. सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से पूछा है कि आखिर ये प्रतिबंध कब तक जारी रहेगा. अदालत ने सरकार से पूछा है कि उसका प्रतिबंध जारी रखने का कब तक का इरादा है.

न्यायामूर्ति एनवी रमण की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय पीठ ने केंद्र सरकार से पूछा कि जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल-370 हटे हुए काफी लंबा समय बीत चुका है. पीठ ने सरकार से पूछा है कि आप और कितने दिनों के लिए प्रतिबंध चाहते हैं. उन्होंने कहा कि यह प्रतिबंध पहले ही दो महीने से जारी है. कोर्ट ने कहा कि सरकार को स्पष्ट करना होगा कि यह प्रतिबंध कब तक पूरी तरह से हटा लिया जाएगा.



कोर्ट ने सरकार से कहा है कि उन्हें अपने निर्णयों की समीक्षा करनी चाहिए. सरकार की ओर से पेश वकील और जम्मू-कश्मीर प्रशासन की ओर से जवाब में कहा गया है पूरे राज्य से 90 फीसदी प्रतिबंध हटा लिए गए हैं और इनकी रोजाना समीक्षा भी की जा रही है.
Loading...

मामले की सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू-कश्मीर में इंटरनेट सेवाओं पर लगाए गए प्रतिबंधों पर भी सवाल उठाए और कहा कि सरकार को जल्द से जल्द जम्मू-कश्मीर के लोगों को संवाद का यह माध्यम उपलब्ध कराना होगा.



इसी के साथ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद की याचिका को पांच नवंबर तक के लिए टाल दिया गया. गुलाम नबी आजाद ने अदालत से अपने परिवार के सदस्यों और रिश्तेदारों से मिलने की अनुमति मांगी थी.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 24, 2019, 2:49 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...