Coronavirus In India: सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से कहा- डिसइंफेक्टेड टनल्स को बैन करने के लिए जारी करें दिशानिर्देश

सुप्रीम कोर्ट
सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने केंद्र सरकार को कीटाणुनाशक टनल्स और स्प्रे के उपयोग के साथ-साथ उनके हानिकारक प्रभावों को देखते हुए मनुष्यों पर पराबैंगनी किरणों के उपयोग के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश जारी करने के लिए कहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 5, 2020, 11:44 AM IST
  • Share this:
सुनील पांडे


नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार  को निर्देश दिया है कि वह डिसइंफेक्टेड सुरंगों, मनुष्यों पर स्प्रे और उनके हानिकारक प्रभावों को ध्यान में रखते हुए पराबैंगनी किरणों के उपयोग पर प्रतिबंध लगाए. गुरुवार को कोर्ट में लॉ स्टूडेंट की उस याचिका पर सुनवाई जिसमें कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए डिसइंफेक्टेड टनल के प्रयोग, स्थापना, उत्पादन या विज्ञापन पर तुरंत प्रतिबंध लगाने की मांग की गई थी..

इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को निर्देश जारी करने के लिए 1 महीने का समय दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि सरकार को निर्देश जारी करने के लिए 29 दिन तक इंतजार नहीं करना चाहिए. कानून के अंतिम वर्ष के छात्र ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर कहा था इन कीटाणुनाशक सुरंगों में इंसानों पर छिड़काव किए गए रसायन उसके स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव डाल रहे हैं.
इसके साथ ही मांग की गई थी कि कोरोना संक्रमित लोगों के घर के बाहर पोस्टर लगने पर रोक लगाई जाए. केंद्र सरकार की तरफ से बताया गया कि मामले में जवाबी हलफनामा जल्द दाखिल करेंगे जिस पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को हलफनामा दाख़िल करने के लिए 2 हफ्ते का समय दिया है. सुनवाई के दौरान जस्टिस शाह ने कहा कि हर चीज के लिए हम आदेश नहीं दे सकते.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज