लाइव टीवी

कश्‍मीर में पाबंदी: वकील नहीं पहुंचे हाईकोर्ट, CJI रंजन गोगोई बोले-मामला गंभीर मैं खुद श्रीनगर जाऊंगा

News18Hindi
Updated: September 16, 2019, 12:55 PM IST
कश्‍मीर में पाबंदी: वकील नहीं पहुंचे हाईकोर्ट, CJI रंजन गोगोई बोले-मामला गंभीर मैं खुद श्रीनगर जाऊंगा
सीजेआई रंजन गोगोई ने कहा, अगर जरूरत हुई तो मैं खुद श्रीनगर जाऊंगा

जम्‍मू कश्‍मीर (Jammu and Kashmir) में बच्‍चों से जुड़ी एक याचिका पर सुनवाई करते हुए सीजेआई रंजन गोगोई (CJI Ranjan Gogoi) ने कहा, ये मामला गंभीर है, मैं खुद हालात देखने श्रीनगर जाऊंगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 16, 2019, 12:55 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली: जम्‍मू-कश्‍मीर (Jammu and Kashmir) में अनुच्‍छेद 370 (Article 370) में बदलाव और उसके बाद के हालात पर हो रही सुनवाई के दौरान एक याचिका पर सुनवाई करते हुए सीजेआई रंजन गोगोई (CJI Ranjan Gogoi) ने कहा, ये मामला गंभीर है, अगर जरूरत पड़ी तो मैं खुद हालात देखने श्रीनगर जाऊंगा. दरअसल ये मामला बच्‍चों के शोषण से जुड़े मामले की सुनवाई का था. इसमें याचिकाकर्ता वकील ने कहा, कश्‍मीर में बंद के चलते वकील हाईकोर्ट नहीं पहुंच पा रहे हैं.

सुनवाई के दौरान सीजेआई (CJI) ने कहा, लोगों का हाईकोर्ट न पहुंचना एक गंभीर मसला है. उन्‍होंने पूछा क्‍या लोगों को कोर्ट पहुंचने में परेशानी हो रही है. हालात गंभीर हैं ऐसे में अगर जरूरत पड़ी तो मैं खुद श्रीनगर (Srinagar) जाऊंगा. सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में जम्‍मू कश्‍मीर हाईकोर्ट को नोटिस दिया है.

रिपोर्ट उलट मिली तो हाईकोर्ट के जज परिणाम के लिए तैयार रहें
सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू-कश्मीर हाईकोर्ट के न्यायाधीश से इस आरोप पर रिपोर्ट मांगी है कि लोगों को हाईकोर्ट से संपर्क करने में मुश्किलों का सामना करना पड़ा रहा है. मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई ने याचिकाकर्ता के वकील से  कहा, अगर लोग उच्च न्यायालय से संपर्क करने में असमर्थ हैं तो यह बेहद गंभीर है, मैं खुद श्रीनगर जाऊंगा.  अगर जम्मू-कश्मीर के हाईकोर्ट के न्यायाधीश की रिपोर्ट इससे उलट बताती है तो परिणाम के लिए तैयार रहें.



सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू-कश्मीर हाईकोर्ट से मांगी रिपोर्ट
सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को जम्मू-कश्मीर हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश से उन आरोपों पर एक रिपोर्ट मांगी है, जिनमें कहा गया है कि लोगों को हाईकोर्ट तक अपनी बात पहुंचाने में कठिनाई हो रही है. सुप्रीम कोर्ट के मुख्‍य न्यायाधीश रंजन गोगोई ने कहा, अगर लोग हाईकोर्ट से अपनी बात नहीं कह पा रहे हैं तो ये “बहुत बहुत गंभीर” बात है.
Loading...

दो बाल अधिकार कार्यकर्ताओं के अधिवक्ता ने कोर्ट में आरोप लगाया कि लोगों को हाईकोर्ट से अपनी बात कहने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है. प्रधान न्यायाधीश ने अधिवक्ता को चेतावनी दी कि अगर हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश की रिपोर्ट में विपरीत बात समाने आई तो उन्हें इसके “नतीजों” का सामना करने के लिए तैयार रहना चाहिए.

सोमवार को जम्‍मू-कश्‍मीर के मसले पर सात याचिकाओं पर सुनवाई हो रही है. सुनवाई के दौरान कोर्ट ने सरकार से जम्‍मू कश्‍मीर में हालात सामान्‍य करने के लिए कहा. फारुख अब्‍दुल्‍ला के हिरासत में होने पर कोर्ट ने 30 सितंबर तक केंद्र से जवाब मांगा है.

गुलाम नबी आजाद को घाटी में जाने की इजाजत मिली
कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता गुलाम नबी आजाद को सरकार ने घाटी में जाने की इजाजत दे दी है. उन्‍हें श्रीनगर और बारामूला जाने की अनुमति मिल गई है. इससे पहले उन्‍हें दो बार दिल्‍ली से घाटी जाते समय रोक दिया गया था.  हालांकि सीजेआई रंजन गोगोई ने कहा, इस दौरान वह किसी भी तरह का सार्वजनिक भाषण या रैली नहीं कर सकेंगे.

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 16, 2019, 12:01 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...