CJI शरद अरविंद बोबडे को मिली जेड प्लस कैटेगरी की सुरक्षा

CJI शरद अरविंद बोबडे को मिली जेड प्लस कैटेगरी की सुरक्षा
प्रधान न्यायाधीश (CJI) जस्टिस एसए बोबडे को जेड प्लस कैटेगिरी की सुरक्षा दी गई है.

सीजेआई बोबडे (CJI Bobde) को अब जेड प्लस सिक्योरिटी (Z Plus Security) देने का फैसला किया गया है. इससे पूर्व सीजेआई को जेड कैटेगिरी की सुरक्षा मिली हुई थी.

  • Share this:
नई दिल्ली. भारत के प्रधान न्यायाधीश शरद अरविंद बोबडे (Chief Justice of India Sharad Arvind Bobde) की सुरक्षा बढ़ा दी गई है. सीजेआई बोबडे (CJI Bobde) को अब जेड प्लस सिक्योरिटी (Z Plus Security) देने का फैसला किया गया है. इससे पूर्व सीजेआई को जेड कैटेगरी की सुरक्षा मिली हुई थी. गृह मंत्रालय (Home Ministry) ने थ्रेट परसेप्शन और इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) की रिपोर्ट के आधार प्रधान न्यायाधीश की सुरक्षा को जेड कैटेगरी से जेड प्लस कैटेगरी में परिवर्तित किया है. जेड प्लस कैटेगरी के लोगों की सुरक्षा का जिम्मा केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (Central Reserve Police Force) करता है, जेड प्लस कैटेगरी की सुरक्षा देश के चुनिंदा लोगों को मिली हुई है.

बता दें सीजेआई एसए बोबडे भारत के 47वें प्रधान न्यायाधीश हैं. बोबडे ने 18 नवंबर 2019 को अपने पद की शपथ ली थी. बोबडे से पहले रंजन गोगोई सीजेआई (CJI Ranjan Gogoi) थे. बतौर सुप्रीम कोर्ट न्यायाधीश एसए बोबडे कई महत्वपूर्ण मामलों की सुनवाई के लिए बनी पीठों का हिस्सा रहे हैं. बोबडे पिछले साल आए अयोध्या मामले (Ayodhya Case) की सुनवाई के लिए बनी सुप्रीम कोर्ट की बेंच का हिस्सा थे. इसके अलावा बोबडे आधार मामले (Aadhar Case) पर सुनवाई के लिए बनी सुप्रीम कोर्ट की तीन जजों की बेंच का भी हिस्सा रहे हैं.

ये भी पढ़ें- यूजीसी ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल किया हलफनामा, एग्जाम को लेकर कही ये बात



ऐसा रहा है सीजेआई बोबडे का करियर
बोबडे ने नागपुर यूनिवर्सिटी (Nagpur University) के डॉ. अंबेडकर लॉ कॉलेज (Dr Ambedkar Law College) से पढ़ाई पूरी करने के बाद सितंबर 1978 में ही बॉम्बे हाईकोर्ट (Bombay High Court) की नागपुर बेंच से प्रैक्टिस शुरू की थी. साल 2000 में उन्होंने बॉम्बे हाईकोर्ट में बतौर एडिशनल जज पदभार ग्रहण किया. इसके बाद 2012 में बोबडे की मध्य प्रदेश हाईकोर्ट (Madhya Pradesh High Court) में बतौर चीफ जस्टिस पदोन्नति हुई.

2013 में एसए बोबडे ने बतौर जज सुप्रीम कोर्ट में पदभार ग्रहण किया. 2019 में भारत के प्रधान न्यायाधीश बने बोबडे अप्रैल 2021 में रिटायर होंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading