Home /News /nation /

कन्हैया को सुप्रीम कोर्ट से लगा बड़ा झटका, जमानत अर्जी पर सुनवाई से इनकार

कन्हैया को सुप्रीम कोर्ट से लगा बड़ा झटका, जमानत अर्जी पर सुनवाई से इनकार

देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार पर कोर्ट कैंपस में हमले ने एक बार से सुरक्षा व्‍यवस्‍था पर प्रश्‍नचिह्न खड़ा कर दिया. कन्हैया कुमार की पेशी से पहले पटियाला हाउस अदालत में वकीलों के गुट ने पत्रकारों पर हमला किया था. इन वकीलों ने बाद में कथित रूप से यह भी कहा कि यदि कन्‍हैया उन्‍हें मिल जाए तो वे उसे जिंदा जला देंगे. हालांकि, ऐसा पहली बार नहीं हुआ कि अदालत परिसर में आरोपियों की इस तरह जमकर धुनाई हुई हो. कई बार आम लोगों का गुस्‍सा फूटा और उन्‍होंने कानून को ठेंगा दिखाकर खुद इंसाफ करने के लिए कदम भी उठाए. एक नजर उन आरोपियों पर जिनकी अदालत परिसर में ही जमकर पिटाई हुई.

देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार पर कोर्ट कैंपस में हमले ने एक बार से सुरक्षा व्‍यवस्‍था पर प्रश्‍नचिह्न खड़ा कर दिया. कन्हैया कुमार की पेशी से पहले पटियाला हाउस अदालत में वकीलों के गुट ने पत्रकारों पर हमला किया था. इन वकीलों ने बाद में कथित रूप से यह भी कहा कि यदि कन्‍हैया उन्‍हें मिल जाए तो वे उसे जिंदा जला देंगे. हालांकि, ऐसा पहली बार नहीं हुआ कि अदालत परिसर में आरोपियों की इस तरह जमकर धुनाई हुई हो. कई बार आम लोगों का गुस्‍सा फूटा और उन्‍होंने कानून को ठेंगा दिखाकर खुद इंसाफ करने के लिए कदम भी उठाए. एक नजर उन आरोपियों पर जिनकी अदालत परिसर में ही जमकर पिटाई हुई.

राष्‍ट्रद्रोह के आरोप में गिरफ्तार जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्र संघ (जेएनयूएसयू) के अध्यक्ष कन्हैया कुमार को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका लगा है.

  • Pradesh18
  • Last Updated :
    राष्‍ट्रद्रोह के आरोप में गिरफ्तार जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्र संघ (जेएनयूएसयू) के अध्यक्ष कन्हैया कुमार को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका लगा है. उच्‍चतम न्‍यायालय ने कन्‍हैया कुमार की जमानत अर्जी पर सुनवाई से इनकार कर दिया है.

    जस्टिस न्यायमूर्ति जे. चेलामेश्वर और जस्टिस अभय मनोहर सप्रे की पीठ ने साफ कहा कि यदि कन्हैया कुमार जमानत चाहते हैं तो दिल्‍ली हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाएं. साथ ही अदालत ने दिल्‍ली पुलिस को आदेश दिया कि वह कन्‍हैया को पूरी सुरक्षा मुहैया कराए.

    पढ़ें- इन पांच दलीलों के आगे नहीं टिक सकेंगे कन्हैया पर देशद्रोह के आरोप

    इससे पहले कन्हैया कुमार की ओर से वकील वृंदा ग्रोवर ने याचिका दाखिल करने वाली उनके लिए सुप्रीम कोर्ट में जमानत याचिका दाखिल की थी. वृंदा का कहना था कि पटियाला हाउस कोर्ट परिसर में वकीलों के समूह ने कन्हैया पर हमला किया था. वहां का माहौल जमानत याचिका पेश करने के लिए उचित नहीं है.

    कन्हैया कुमार की ओर से वृंदा ग्रोवर ने भारतीय संविधान के अनुच्छेद-32 के तहत जमानत के लिए सर्वोच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया था. अनुच्छेद-32 के तहत एक नागरिक अपने मौलिक अधिकार सुनिश्चित कराने के लिए सर्वोच्च न्यायालय का रुख कर सकता है.

    28 वर्षीय छात्र नेता कन्हैया को 12 फरवरी को गिरफ्तार किया गया था. अफजल गुरु को वर्ष 2013 में दी गई फांसी के तीन दिन पूर्व जेएनयू में आयोजित एक कार्यक्रम में उन पर राष्ट्रविरोधी नारे लगाने का आरोप है.

    अफजल गुरु कश्मीरी आतंकी था और वर्ष 2001 में भारतीय संसद पर हुए आतंकी हमले की साजिश में शामिल था. कन्हैया ने अपने ऊपर लगे आरोपों से इनकार किया है.

    Tags: DELHI HIGH COURT, Supreme Court

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर