अपना शहर चुनें

States

किसान आंदोलन से तबलीगी जमात जैसी हो सकती है दिक्‍कत, सरकार बनाए गाइडलाइन- SC

सुप्रीम कोर्ट ने जताई चिंता. (File Pic)
सुप्रीम कोर्ट ने जताई चिंता. (File Pic)

Farmers Protest : सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को कोविड 19 महामारी और किसान आंदोलन को लेकर चिंता व्‍यक्‍त करते हुए केंद्र सरकार से भीड़ को लेकर गाइडलांइस बनाने को कहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 7, 2021, 1:36 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. एक महीने से अधिक समय से केंद्र के 3 कृषि कानूनों (Farm Laws) के विरोध में जारी किसान आंदोलन (Farmers Protest) को लेकर गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने चिंता जाहिर की है. सुप्रीम कोर्ट ने कोविड 19 महामारी और किसान आंदोलन को लेकर चिंता व्‍यक्‍त करते हुए कहा है कि किसानों का आंदोलन 2020 में दिल्‍ली के निजामुद्दीन इलाके में उत्‍पन्‍न हुई तबलीगी जमात जैसी स्थिति बना सकता है. सुप्रीम कोर्ट ने सरकार से यह भी पूछा है कि क्‍या आंदोलन में किसान कोरोना संक्रमण के प्रसार के खिलाफ एहतियाती कदम उठा रहे हैं.

चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया एसए बोबडे की अध्‍यक्षता वाली बेंच ने गुरुवार को सुनवाई करते हुए कहा कि दिल्‍ली की सीमाओं पर किसानों के आंदोलनस्‍थलों पर कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बढ़ सकते हैं. बार एंड बेंच डॉट कॉम की रिपोर्ट के अनुसार केंद्र सरकार से कोर्ट को यह भी अवगत कराने को कहा है कि आंदोलनस्‍थलों पर स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय की गाइडलाइंस का पालन सुनिश्चित करने के लिए क्‍या कदम उठाए गए हैं.

सीजेआई की अध्‍यक्षता वाली बेंच में जस्टिस एएस बोपन्‍ना और वी रामसुब्रमण्‍यम भी शामिल थे. बेंच की ओर से जम्‍मू-कश्‍मीर की वकील सुप्रिया पंडित द्वारा दाखिल याचिका पर सुनवाई हो रही थी. याचिकाकर्ता ने हजारों लोगों के स्‍वास्‍थ्‍य के लिए खतरा उत्‍पन्‍न होने को लेकर केंद्र सरकार, दिल्‍ली सरकार और दिल्‍ली पुलिस पर सवाल उठाए हैं.

याचिकाकर्ता वकील ने दिल्‍ली पुलिस पर आरोप लगाया है कि वो पिछले साल निजामुद्दीन मरकज में आयोजित धार्मिक आयोजन से बढ़े कोरोना वायरस संक्रमण के मामले में मरकज के प्रमुख मौलाना साद को भी गिरफ्तार करने में नाकाम रही है. वहीं सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को नोटिस जारी करके यह बताने को कहा है कि किसान आंदोलनस्‍थलों पर कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए क्‍या कदम उठाए गए हैं. इससे पहले कोर्ट दिल्‍ली सरकार और दिल्‍ली पुलिस को भी नोटिस जारी कर चुका है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज