होम /न्यूज /राष्ट्र /CBI के पूर्व चीफ ने पूछा- घर जाऊं? SC ने कहा- कोर्ट के एक कोने में कल भी बैठा दें?

CBI के पूर्व चीफ ने पूछा- घर जाऊं? SC ने कहा- कोर्ट के एक कोने में कल भी बैठा दें?

सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने सवाल किया कि सीबीआई का एक अंतरिम निदेशक अगर इतने सारे ट्रांसफर नहीं करता तो क् ...अधिक पढ़ें

    सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई के पूर्व अंतरिम निदेशक नागेश्वर राव के माफीनामे को अस्वीकार कर दिया है. चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली बेंच ने मंगलवार को कहा कि नागेश्वर राव ने स्पष्ट तौर पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश की अवमानना की है. कोर्ट ने राव पर एक लाख रुपये का जुर्माना लगाया है और साथ ही कोर्ट की मंगलवार की कार्यवाही खत्म होते तक उन्हें कोर्ट में बैठे रहने का आदेश दिया है.

    सीजेआई ने आदेश पढ़ा, 'स्वत: संज्ञान अवमानना में आरोप ये है कि मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस में सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद ए के शर्मा को सीबीआई से बाहर ट्रांसफर किया गया. नागेश्वर राव ने कोर्ट के आदेश की अवहेलना की है यह साफ है.'

    बता दें कि बिहार के मुजफ्फरपुर शेल्टर होम रेप केस में जांच की यथास्थिति को बरकरार रखने के सुप्रीम कोर्ट के आदेश का उल्लंघन करते हुए नागेश्वर राव ने जांच में शामिल सीबीआई अधिकारी एके शर्मा का ट्रांसफर कर दिया था. जिसके बाद कोर्ट ने राव को अवमानना का नोटिस भेजा था.

    शेल्टर होम केस: CBI के पूर्व अंतरिम निदेशक ने सुप्रीम कोर्ट से मांगी बिना शर्त माफी

    सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने सवाल किया कि सीबीआई का एक अंतरिम निदेशक अगर इतने सारे ट्रांसफर नहीं करता तो क्या आसमान गिर जाता?


    इस दौरान राव की तरफ से पेश हुए एटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल ने दलील दी कि राव का 30 साल का बेदाग करियर है और वह अपनी गलती के लिए माफी मांग चुके हैं. इस पर कोर्ट ने कहा कि वह राव के माफीनामे को अस्वीकार करते हैं.

    शेल्टर होम केस: लालू यादव का तंज, 'का हो नीतीश? कुछ शर्म बचल बा कि नाहीं'

    राव ने सोमवार को कोर्ट में हलफनामा दाखिल कर माफी मांगी है. हलफनामे में नागेश्वर राव ने कहा कि वह अपनी गलती स्वीकार करते हैं. नागेश्वर राव की तरफ से दायर हलफनामे में लिखा है कि "अदालत के आदेश के बिना मुख्य जांच अधिकारी का ट्रांसफर नहीं करना चाहिए था, ये मेरी गलती है और मेरी माफी स्वीकार करें." एम नागेश्वर राव ने कोर्ट से बिना शर्त माफी मांगी थी.
    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    Tags: CBI, Chief Justice of India, Justice Ranjan Gogoi, Muzaffarpur Shelter Home Rape Case, Supreme Court

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें