जस्टिस कुरियन जोसेफ बोले- न्याय और न्यापालिका के हित में उठाई आवाज़

न्यायमूर्ति जोसेफ ने कहा कि न्यायाधीशों ने न्यायपालिका में लोगों का भरोसा जीतने के लिए यह किया.

भाषा
Updated: January 13, 2018, 4:36 PM IST
जस्टिस कुरियन जोसेफ बोले- न्याय और न्यापालिका के हित में उठाई आवाज़
सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ जज जस्टिस जोसेफ कुरियन
भाषा
Updated: January 13, 2018, 4:36 PM IST
सुप्रीम कोर्ट के चार सबसे सीनियर जजों में शामिल जस्टिस कुरियन जोसेफ ने भरोसा जताया कि उन्होंने जो मुद्दे उठाए हैं उनका जल्द समाधान हो जाएगा. जस्टिस जोसेफ सहित तीन अन्य न्यायाधीशों के प्रेस कॉन्फ्रेंस के एक दिन बाद उन्होंने कहा कि उन्होंने न्याय और न्यायपालिका के हित में काम किया.

बता दें कि मुकदमों के चुनिंदा तरीके से आवंटन और कुछ न्यायिक फैसलों को लेकर देश के प्रधान न्यायाधीश के खिलाफ चार वरिष्‍ठ जजों ने प्रेस कांफ्रेंस कर विरोध दर्ज कराया था.

जस्टिस जोसेफ ने कहा, 'न्याय और न्यायपालिका के पक्ष में खड़े हुए. यही चीज शुक्रवार को नई दिल्ली में हमने कहा.' उन्होंने कहा, 'एक मुद्दे की ओर ध्यान गया है. ध्यान में आने पर निश्चित तौर पर यह मुद्दा सुलझ जाएगा. न्यायाधीशों ने न्यायपालिका में लोगों का भरोसा जीतने के लिए यह किया.'


गौरतलब है कि देश के लोकतंत्र के इतिहास में पहली बार सुप्रीम कोर्ट के चार जजों ने खुलेआम मुख्य न्यायाधीश के खिलाफ विद्रोह का संकेत दे दिया. चार जजों ने सीजेआई के खिलाफ असंतोष को उजागर करने के लिए प्रेस कांफ्रेंस बुलाई. वहां उन्होंने जाहिर कर दिया कि केसों के बंटवारे और सीजेआई की कार्यशैली से उनमें गहरे मतभेद हैं.

जिन चार जजों ने प्रेस कांफ्रेंस बुलाई, उसमें जस्टिस जे चेलामेश्वर, जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस मदन बी लोकुर और जस्टिस कुरियन जोसेफ शामिल रहे. ये चारों जज करीब 15 से 20 मिनट के लिए मीडिया से रू-ब-रू हुए. ये प्रेस कांफ्रेंस जस्टिस चेलमेश्वर के घर पर बुलाई गई थी.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर