लाइव टीवी

फेयरवेल स्पीच में बोले CJI- लोगों का इतिहास नहीं, काम देखकर लिए फैसले

News18Hindi
Updated: October 1, 2018, 7:50 PM IST
फेयरवेल स्पीच में बोले CJI- लोगों का इतिहास नहीं, काम देखकर लिए फैसले
फेयरवेल स्पीच देते सीजेआई दीपक मिश्रा

रिटायर हो रहे सीजेआई दीपक मिश्रा ने कहा 'भारतीय न्यायपालिका दुनिया के सबसे मजबूत व्यवस्था में से एक है. इसके लिए जजों की भूमिका बहुत अहम है.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 1, 2018, 7:50 PM IST
  • Share this:
भारत के प्रधान न्यायाधीश (CJI) दीपक मिश्रा सोमवार को अपने पद से रिटायर हो रहे हैं. सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन (एससीबीए) की ओर से आयोजित एक समारोह में उन्हें विदाई दी गई. इस मौके पर सीजेआई दीपक मिश्रा ने फेयरवेल स्पीच दी और बतौर सीजेआई दिए गए फैसलों को याद किया. जस्टिस दीपक मिश्रा ने कहा, 'मैं लोगों को उनके इतिहास से नहीं, बल्कि उनके काम और गतिविधियों से जज करता हूं. उसके आधार पर ही फैसले लेता हूं.'

जस्टिस चेलामेश्वर के बाद CJI को सरकार की चिट्ठी, कर्नाटक जज के खिलाफ ठीक से नहीं हुई जांच

इस दौरान जस्टिस दीपक मिश्रा ने कार्यक्रम में बैठे हुए लोगों के साथ 'सिटिंग लव' और खड़े लोगों से 'स्टैंडिंग लव' की इच्छा जताई. उन्होंने कहा, 'भारतीय न्यायपालिका दुनिया के सबसे मजबूत व्यवस्था में से एक है. इसके लिए जजों की भूमिका बहुत अहम है.' जस्टिस दीपक मिश्रा ने वकीलों की भी जमकर तारीफ की. उन्होंने कहा कि युवा वकीलों और स्टूडेंट्स के पास असीमित क्षमता है.

जस्टिस दीपक मिश्रा ने कहा कि समाज बच्चे की दूसरी मां होती है. अमीर और गरीब के आंसू एक समान होते हैं. उन्होंने कॉलेजियम सिस्टम की भी तारीफ की. जस्टिस दीपक मिश्रा ने कहा, 'इसी की बदौलत सुप्रीम कोर्ट सुप्रीम बना हुआ है.'

CJI के तौर पर आखिरी बार कोर्ट में भावुक हुए दीपक मिश्रा, वकील को गाने से रोका



 

इस मौके पर नामित सीजेआई रंजन गोगोई ने कहा कि जस्टिस मिश्रा ने अपने कार्यकाल के दौरान मॉब लिंचिंग और ऑनर किलिंग के खिलाफ बोला है. जस्टिस मिश्रा के 13 महीने के कार्यकाल की तारीफ करते हुए नए सीजेआई रंजन गोगोई ने कहा, 'संवैधानिक नैतिकता को आगे बढ़ना देना चाहिए. यही संविधान के प्रति सच्चा समर्पण होगा.'



जस्टिस गोगोई को CJI नहीं बनाया गया, तो हमारा डर सही साबित होगा: जस्टिस चेलमेश्वर

जस्टिस गोगोई ने कहा, 'हम जो कुछ भी पहनते हैं, खाते हैं और विश्वास करते हैं. ये ऐसे मुद्दे हैं जो हमें बांटते हैं, लेकिन संविधान हमें एकजुट रखता है.' बता दें कि नामित सीजेआई रंजन गोगोई तीन अक्टूबर को अपना पदभार संभालेंगे.

बता दें कि जस्टिस दीपक मिश्रा ने भारत के प्रधान न्यायाधीश के तौर पर सोमवार को आखिरी बार सुप्रीम कोर्ट की कमान संभाली. करीब 25 मिनट तक चली कार्यवाही के दौरान मिश्रा काफी भावुक नजर आए. बेंच में उनके साथ जस्टिस रंजन गोगोई और एएम खानविलकर भी मौजूद रहे. जस्टिस गोगोई मिश्रा के बाद सीजेआई का पद संभालने वाले हैं.

कार्यवाही के बाद एक वकील ने मिश्रा की लंबी उम्र की कामना के लिए बॉलीवुड का 'तुम जियो हजारो साल...' गाना शुरू कर दिया. उन्हें बीच में ही रोकते हुए मिश्रा ने कहा, 'अभी मैं अपने दिल से बोल रहा हूं, शाम को दिल से जवाब दूंगा.'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 1, 2018, 6:23 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर