कश्मीर में आर्टिकल-370 हटाने के खिलाफ SC पहुंची फारूक अब्दुल्ला की पार्टी

जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) में अनुच्छेद-370 (Article 370) हटाए जाने की मांग को लेकर नेशनल कॉन्फ्रेंस के सांसद मोहम्मद अकबर लोन और हसनैन मसूदी केंद्र सरकार के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंच गए हैं.

News18Hindi
Updated: August 10, 2019, 6:20 PM IST
कश्मीर में आर्टिकल-370 हटाने के खिलाफ SC पहुंची फारूक अब्दुल्ला की पार्टी
कश्मीर में आर्टिकल-370 हटाने खिलाफ अब SC पहुंची फारूक अब्दुल्ला की पार्टी
News18Hindi
Updated: August 10, 2019, 6:20 PM IST
जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) में अनुच्छेद-370 (Article-370) हटाए जाने के बाद से बढ़े तनाव के बीच नेशनल कॉन्फ्रेंस ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. गौरतलब है कि नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी केंद्र सरकार के इस फैसले का लगातार विरोध कर रही है. दोनों ही पार्टियों का आरोप है कि सरकार के इस कदम से कश्मीर की शांति भंग होगी.

नेशनल कॉन्फ्रेंस के सांसद मोहम्मद अकबर लोन और हसनैन मसूदी केंद्र सरकार के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंच गए हैं. नेताओं का कहना है कि केंद्र सरकार ने राज्य की सरकारों से इस मुद्दे पर बिना कोई राज लिए फैसला कर लिया है. उन्होंने कश्मीर घाटी में शांति बनाए रखने के लिए उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती को नजरबंद किए जाने का भी मामला सुप्रीम कोर्ट में रखा है.

Jammu, Kashmir, Jammu Kashmir, Article -370, Supreme Court, Farooq Abdullah, Narendra Modi

आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद पहले शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर में शांति का माहौल रहा. राज्य के विभिन्न इलाकों में लोग जुमे की नमाज अदा करने घर से बाहर निकले. बिना किसी डर या खौफ के लोगों ने मस्जिदों में नमाज पढ़ी. हालांकि, आशंका ये जताई जा रही थी कि जुमे के दिन घाटी में अशांति का माहौल हो सकता है.

Jammu, Kashmir, Jammu Kashmir, Article -370, Supreme Court, Farooq Abdullah, Narendra Modi

उधर आतंकी मसूद अजहर ने धमकी देते हुए कहा है कि जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल-370 हटाने के बाद भी भारत अपने मंसूबों में कभी कामयाब नहीं हो सकेगा. आतंकवादी मसूद अजहर ने दावा किया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कश्मीर से संवैधानिक दर्जा छीनकर अच्छा नहीं किया. आतंकी ने धमकी देते हुए कहा कि मुजाहिदीन अपने मकसद के करीब पहुंच चुके हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 10, 2019, 2:59 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...