सुप्रीम कोर्ट से अबू सलेम को झटका, टाडा हटाने से किया इनकार

सुप्रीम कोर्ट से अबू सलेम को झटका, टाडा हटाने से किया इनकार
File Photo

1993 के मुंबई सीरियल ब्‍लास्‍ट केस के मुख्‍य आरोपी अबू सलेम को सुप्रीम कोर्ट ने राहत देने से इंकार कर दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने अबू सलेम पर टाडा हटाए जाने से इंकार करते हुए हत्‍या के आरोप से जुड़े हर बिंदू को उठाने को कहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 10, 2018, 7:36 PM IST
  • Share this:
1993 के मुंबई सीरियल ब्‍लास्‍ट केस के मुख्‍य आरोपी अबू सलेम को सुप्रीम कोर्ट ने राहत देने से इंकार कर दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने अबू सलेम पर टाडा हटाए जाने से इंकार करते हुए हत्‍या के आरोप से जुड़े सभी बिंदुओं को उठाने को कहा है.

मुंबई बम ब्‍लास्‍ट मामले में सलेम को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई है. उसने इस फैसले के खिलाफ साल 2012 में सुप्रीम कोर्ट में अपील कि थी और कहा था कि पुर्तगाल के साथ हुई संधि के अनुसार उसके ऊपर टाडा और धारा 302 के तहत मुकदमा नहीं चलाया जा सकता. साल 2005 में प्रत्‍यर्पण संधि के शर्तों के मुताबिक सलेम को मौत की सजा नहीं दी जा सकती. जबकि 25 साल जेल या ज्‍यादा की सजा हो सकती है.

बता दें, सितंबर 2017 में गैंगस्टर अबु सलेम को 1993 के मुंबई सीरियल बम ब्लास्ट के मामले में उम्र कैद की सजा सुनाते हुए अदालत ने कहा था कि सजा पर अमल कैसे हो, यह केंद्र सरकार को तय करना है. टाडा अदालत के न्यायाधीश जी ए सनप ने कहा था कि न्यायपालिका और कार्यपालिका की भूमिकाएं संविधान द्वारा अलग की गई हैं. सजा सुनाना और उसकी तामील करना अलग-अलग पहलू हैं.



न्यायाधीश ने कहा था कि एक बार जब अदालत द्वारा सजा सुना दी जाती है तो फिर उसका कार्यान्वयन कार्यपालिका के अधिकार क्षेत्र में आ जाता है. न्यायाधीश ने अपनी व्यवस्था में कहा था कि केंद्र सरकार, पुर्तगाल में दिए गए आश्वासन के तहत सजा की तामील को लेकर अपने विवेक से अपने अधिकार का इस्तेमाल करने के लिए स्वतंत्र होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज