Assembly Banner 2021

अमेज़न इंडिया की प्रमुख अपर्णा पुरोहित को बड़ी राहत, गिरफ्तारी पर SC की रोक

सुप्रीम कोर्ट ने कहा,  अपर्णा पुरोहित को गिरफ्तार नहीं किया जा सकता.

सुप्रीम कोर्ट ने कहा, अपर्णा पुरोहित को गिरफ्तार नहीं किया जा सकता.

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने अपर्णा पुरोहित (Aparna Purohit) की गिरफ्तारी की संभावना को खारिज करते हुए कहा है कि पुरोहित को गिरफ्तार नहीं किया जाए. सुप्रीम कोर्ट ने मामले की सुनवाई के दौरान OTT प्लेटफॉर्म के लिए लाई गई केंद्र की गाइडलाइंस पर भी टिप्पणी की.

  • Share this:
मुंबई. अमेजन प्राइम वीडियो इंडिया (Amazon Prime Video India) की वेब सीरीज 'तांडव' की कंटेट हेड अपर्णा पुरोहित (Aparna Purohit) को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिली है. सुप्रीम कोर्ट ने अपर्णा पुरोहित की गिरफ्तारी की संभावना को खारिज करते हुए कहा है कि पुरोहित को गिरफ्तार नहीं किया जाए. सुप्रीम कोर्ट ने मामले की सुनवाई के दौरान OTT प्लेटफॉर्म के लिए लाई गई केंद्र की गाइडलाइंस पर भी टिप्पणी की.

अदालत ने कहा कि सोशल मीडिया, डिजिटल मीडिया और OTT प्लेटफॉर्म के लिए केंद्र सरकार की ओर ये जो नियम बनाए गए हैं वह पर्याप्त नहीं है और इससे प्रॉसिक्यूशन की शक्ति भी नहीं मिल जाती है. बता दें कि इससे पहले शुक्रवार को इस मामले में सुनवाई करते हुए ओटीटी प्लेटफार्म पर आपत्तिजनक कंटेंट दिखाए जाने पर सुप्रीम कोर्ट ने नाराजगी जताई थी. कोर्ट ने कहा था कि ओटीटी प्लेटफार्म पर स्क्रीनिंग की जरूरत है कभी कभी इस प्लेटफॉर्म पर पोर्नोग्राफी भी दिखाई जाती है.

अपर्णा पुरोहित का केस लड़ रहे वरिष्ठ वकील मुकुल रोहतगी ने उनके बचाव में कहा कि ओटीटी प्लेटफॉर्म के लिए बनाए गए रेगुलेशन अभी हाल ही में आए हैं, ऐसे में वे उन रेगुलेशन को जल्द ही देखेंगे. उन्होंने अर्पिता के बचाव में यह भी कहा कि वह अमेजन की एक कर्मचारी हैं. ऐसे में कार्रवाई उनके खिलाफ होनी चाहिए जिन्होंने वेब सीरीज बनाई है.
इसे भी पढ़ें :- OTT पर मौजूद 'गंदी बातों' पर सुप्रीम कोर्ट की नजर, कहा- ...पोर्नोग्राफी द‍िखाई जा रही है



इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अग्रिम जमानत देने से किया था इनकार
25 फरवरी को इलाहाबाद हाई कोर्ट ने मामले में अग्रिम जमानत देने से इनकार कर दिया था, जिसके बाद मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंचा. उत्तर प्रदेश पुलिस ने हिंदू देवी-देवताओं के अपमानजनक चित्रण और सीरीज के माध्यम से धार्मिक द्वेष को बढ़ावा देने के लिए अमेजन के मुख्य कार्यकारी के खिलाफ एक एफआईआर दर्ज की थी. उन पर हिंदू देवी-देवताओं की छवि खराब करने का आरोप है. साथ ही आरोप लगाया गया है कि पीएम के किरदार को प्रतिकूल तरीके से दिखाया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज