कश्‍मीरी छात्रों पर हो रहे हमले पर सुप्रीम कोर्ट गंभीर, राज्‍यों को भेजा नोटिस

सुप्रीम कोर्ट ने सभी राज्‍यों को कश्‍मीरी छात्रों को सुरक्षा देने का आदेश दिया है. कोर्ट ने कहा है कि सभी राज्‍य इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए एक अधिकारी की नियुक्‍ति करेंं.

News18Hindi
Updated: February 22, 2019, 12:29 PM IST
कश्‍मीरी छात्रों पर हो रहे हमले पर सुप्रीम कोर्ट गंभीर, राज्‍यों को भेजा नोटिस
सुप्रीम कोर्ट
News18Hindi
Updated: February 22, 2019, 12:29 PM IST
पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए फिदायीन हमले के बाद से देशभर के कई शहरों में कश्‍मीरी छात्रों के साथ मारपीट की खबरें आ रही हैं. इस मामले को गंभीरता से लेते हुए सुप्रीम कोर्ट ने सभी राज्‍यों से कश्‍मीरी छात्रों को सुरक्षा देने का आदेश दिया है. कोर्ट ने कहा है कि सभी राज्‍य इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए एक अधिकारी की नियुक्‍ति करें. इसी के साथ अगर कहीं भी कश्‍मीरी छात्रों के साथ गलत व्‍यवहार हो रहा है या फिर मारपीट जैसी घटनाएं हो रही हैं तो वहां पर तुरंत पुलिस की मौजूदगी तय की जाए.

जानकारी के अनुसार पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले में हुए फिदायीन हमले के बाद से देश के अलग-अलग राज्‍यों में कश्‍मीरी छात्रों पर हमले की खबरें आ रही हैं. मामले की गंभीरता को देखते हुए सुप्रीम को ने दिल्ली, यूपी, उत्तराखंड, बिहार, हरियाणा, मेघालय, पश्चिम बंगाल, पंजाब और महाराष्‍ट्र सरकार को नोटिस जारी किया है. नोटिस में राज्यों को कश्‍मीरी छात्रों की मदद के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त करने को कहा गया है. सभी राज्‍यों में नियुक्‍त नोडल अधिकारी कश्‍मीरी छात्रों का हर तरह से मदद करेंगे और जहां कहीं भी कश्‍मीरी छात्रों के साथ मारपीट जैसी घटनाएं आएंगी उन्‍हें तुरंत सहायता मुहैया कराएंगे.

इसे भी पढ़ें :- पुलवामा हमले के बाद कश्‍मीरी छात्रों की मदद के लिए आगे आई CRPF, कर रही है ये काम



गौरतलब है कि मामले की गंभीरता को देखते हुए सीआरपीएफ ने हेल्‍पलाइन नंबर 14411 की शुरुआत की है. इस हेल्‍पलाइन पर फोन कर कश्‍मीरी छात्र परेशानी होने पर मदद मांग सकते हैं. सेना के अधिकारी जुल्फिकार हसन ने कहा कि- 'कश्‍मीर से बाहर पढ़ाई कर रहे छात्रों की सुरक्षा की जिम्‍मेदारी हमारी है.'

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...