Home /News /nation /

सुप्रीम कोर्ट छुट्टियां खत्म होने के बाद अयोध्या, राफेल समेत इन मुद्दों पर करेगा सुनवाई

सुप्रीम कोर्ट छुट्टियां खत्म होने के बाद अयोध्या, राफेल समेत इन मुद्दों पर करेगा सुनवाई

1 जुलाई से सुप्रीम कोर्ट के सीजेआई रंजन गोगोई की अध्यक्षता में 31 जज अपना काम शुरू करेंगे. खबर है कि काम शुरू होने के बाद जल्द ही राफेल मामले में दोबारा सुनवाई के मामले में भी सुप्रीम कोर्ट अपना फैसला सुना सकता है.

1 जुलाई से सुप्रीम कोर्ट के सीजेआई रंजन गोगोई की अध्यक्षता में 31 जज अपना काम शुरू करेंगे. खबर है कि काम शुरू होने के बाद जल्द ही राफेल मामले में दोबारा सुनवाई के मामले में भी सुप्रीम कोर्ट अपना फैसला सुना सकता है.

1 जुलाई से सुप्रीम कोर्ट के सीजेआई रंजन गोगोई की अध्यक्षता में 31 जज अपना काम शुरू करेंगे. खबर है कि काम शुरू होने के बाद जल्द ही राफेल मामले में दोबारा सुनवाई के मामले में भी सुप्रीम कोर्ट अपना फैसला सुना सकता है.

    सुप्रीम कोर्ट की छुट्टियां खत्म होने वाली हैं. छह हफ्तों की छुट्टियों के बाद सुप्रीम कोर्ट 1 जुलाई से खुलने जा रहा है. इसके बाद उच्चतम न्यायालय अयोध्या और राफेल जैसे ज़रूरी व संवेदनशील मुद्दों पर सुनवाई करेगा. इसके अलावा सुप्रीम कोर्ट कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ राफेल मामले में 'चौकीदार चोर है' वाली टिप्पणी पर भी सुनवाई करेगा.

    1 जुलाई से सुप्रीम कोर्ट के सीजेआई रंजन गोगोई की अध्यक्षता में 31 जज अपना काम शुरू करेंगे. खबर है कि काम शुरू होने के बाद जल्द ही राफेल मामले में दोबारा सुनवाई के मामले में भी सुप्रीम कोर्ट अपना फैसला सुना सकता है.

    बता दें सुप्रीम कोर्ट ने 14 दिसंबर 2018 को राफेल विमान की खरीद को चुनौती देने वाली सभी याचिकाओं को खारिज कर दिया था. इस फैसले की समीक्षा के लिए पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा, अरुण शौरी और प्रशांत भूषण ने याचिका दायर की थी.

    ‘चौकीदार चोर है’ पर होगी सुनवाई
    इसके अलावा तीन जजों की बेंच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी की अवमानना याचिका पर भी सुनवाई करेगी. राहुल गांधी ने सुप्रीम कोर्ट का हवाला देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए चौकीदार चोर है नारे का इस्तेमाल किया था. हालांकि राहुल ने इस पर माफी भी मांग ली थी.



    अयोध्या विवाद पर पैनल सौंपेगा रिपोर्ट
    इसके अलावा राजनीतिक रूप से संवेदनशील राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि मालिकाना हक विवाद मामले में भी सभी की नजरें बंद कमरे में हुई सुनवाई के परिणाम पर टिकी रहेंगी. सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश न्यायमूर्ति एफ. एम. कलीफुल्ला की अध्यक्षता वाले तीन सदस्यीय पैनल ने मामले का सौहार्दपूर्ण हल निकालने के लिए सुनवाई की थी.



    इस पैनल में आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर और वरिष्ठ वकील श्रीराम पांचू भी शामिल हैं. न्यायमूर्ति गोगोई की अध्यक्षता वाली 5 सदस्यीय पीठ ने पैनल को 15 अगस्त तक का वक्त दिया है.

    आर्टिकल-370 पर भी सुनवाई
    सुप्रीम कोर्ट संविधान के अनुच्छेद 370 की संवैधानिक वैधता को चुनौती देने वाली भाजपा नेता और वकील अश्विनी उपाध्याय की जनहित याचिका पर भी सुनवाई करेगी. साथ ही जम्मू-कश्मीर से ही जुड़े संविधान के अनुच्छेद 35ए पर भी सुनवाई होगी.

    ये भी पढ़ें-
    तमिल अभिनेता ने EVM से छेड़छाड़ के लिए SC से मांगी इजाजत

    अयोध्या में बाबरी मस्जिद नहीं थी, बाबर वहां कभी नहीं गया

    Tags: Article 35A, Ayodhya Land Dispute, Chief Justice of India, Jammu kashmir, Justice Ranjan Gogoi, Rafale, Rafale deal, Supreme Court, Supreme court of india

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर