होम /न्यूज /राष्ट्र /

सुल्‍ली डील्‍स ऐप मामला: आरोपी मास्टरमाइंड ओंकारेश्‍वर ठाकुर की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट का राज्यों को नोटिस

सुल्‍ली डील्‍स ऐप मामला: आरोपी मास्टरमाइंड ओंकारेश्‍वर ठाकुर की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट का राज्यों को नोटिस

सुल्‍ली डील्‍स के आरोपी मास्टरमाइंड की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट का राज्यों को नोटिस (News18)

सुल्‍ली डील्‍स के आरोपी मास्टरमाइंड की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट का राज्यों को नोटिस (News18)

सुल्‍ली डील्‍स ऐप मामले के आरोपी मास्टरमाइंड ओंकारेश्‍वर ठाकुर की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने राज्यों को नोटिस जारी किया है. ओंकारेश्‍वर ठाकुर ने अपने खिलाफ विभिन्न राज्यों में दर्ज FIR को एक साथ जोड़ने की मांग की है.

हाइलाइट्स

सुल्‍ली डील्‍स के आरोपी मास्टरमाइंड ओंकारेश्‍वर ठाकुर की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट का राज्यों को नोटिस
सुप्रीम कोर्ट में मामले की सुनवाई तीन हफ्ते के बाद
ओंकारेश्‍वर की अपने खिलाफ विभिन्न राज्यों में दर्ज सभी FIR को एक साथ जोड़ने की मांग

नई दिल्ली. सुल्‍ली डील्‍स ऐप मामले के मास्टरमाइंड ओंकारेश्‍वर ठाकुर की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने राज्यों को नोटिस जारी किया है. ओंकारेश्‍वर ठाकुर ने अपने खिलाफ विभिन्न राज्यों में दर्ज FIR को एक साथ जोड़ने की मांग की है. सुप्रीम कोर्ट में अब इस मामले की सुनवाई तीन हफ्ते के बाद होगी. इंटरनेट पर सुल्‍ली डील्‍स ऐप के जरिये मुस्लिम महिलाओं को निशाना बनाया जाता था. सुप्रीम कोर्ट ने सवाल किया कि क्या सभी मामलों को एक साथ जोड़ा जा सकता है, जबकि कई लोगों की तस्वीरें अपलोड की गईं और कई अलग-अलग पीड़ित हैं.

न्यूज एजेंसी एएनआई की एक खबर के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट ने सुल्ली डील ऐप के आरोपी से सवाल पूछा कि क्या सभी मामलों की एफआईआर को एक साथ जोड़ा जा सकता है. ‘सुल्ली डील्स’ ऐप बनाने के आरोपी ओंकारेश्वर ठाकुर ने सुप्रीम कोर्ट में अपने खिलाफ कई एफआईआर को एक साथ जोड़ने की मांग की थी. बहरहाल सुप्रीम कोर्ट ‘सुल्ली डील’ और बुली बाई ऐप बनाने के आरोपी ओंकारेश्वर ठाकुर की याचिका पर सुनवाई करने के लिए तैयार हो गया है. जिसमें उसके खिलाफ कई एफआईआर को एक जगह दर्ज करने की मांग की गई थी. सुप्रीम कोर्ट ने इस बारे में दिल्ली, उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र पुलिस को नोटिस जारी किया है.

कई एफआईआर का सामना कर रहा आरोपी
न्यायमूर्ति एसके कौल और न्यायमूर्ति एमएम सुंदरेश की पीठ के समक्ष ओंकारेश्वर ठाकुर के वकील ने तर्क दिया कि वह विभिन्न राज्यों में कई एफआईआर का सामना कर रहा है और इन सभी मामलों को एक साथ जोड़ दिया जाना चाहिए. पीठ इस मामले की सुनवाई करने के लिए सहमत हो गई. लेकिन पीठ ने कहा कि वह आश्वस्त नहीं है कि ठाकुर को राहत दी जा सकती है या नहीं. सुप्रीम कोर्ट ने एक नोटिस जारी किया लेकिन जांच पर रोक लगाने से इनकार कर दिया. इस मामले की सुनवाई अब सितंबर के पहले हफ्ते में होगी.

मुस्लिम लड़कियों की तस्‍वीरों वाले सुल्‍ली डील्‍स मामले पर दिल्‍ली पुलिस को नोटिस

गौरतलब है कि सुल्ली डील्स ऐप के कथित निर्माता ओंकारेश्वर ठाकुर को दिल्ली पुलिस ने इंदौर से गिरफ्तार किया था. बीसीए की डिग्री रखने वाले ठाकुर ने एक ऐप बनाया जिस पर कई मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरें अपलोड कीं. इन वेबसाइटों को बनाने के कारण ओंकारेश्वर ठाकुर पर दिल्ली और यूपी में कम से कम 3 अलग-अलग प्राथमिकी दर्ज की गई हैं.

Tags: Delhi, Sulli deals, Supreme Court, Supreme court of india

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर