गुजरात: MLA के बेटे संग हुई बहस के चलते चर्चा में आईं कांस्टेबल सुनीता यादव ने दिया इस्तीफा!

गुजरात: MLA के बेटे संग हुई बहस के चलते चर्चा में आईं कांस्टेबल सुनीता यादव ने दिया इस्तीफा!
महिला कांस्टेबल सुनीता यादव (वीडियो ग्रैब)

सोशल मीडिया (Social Media) पर सुनीता यादव (Sunita Yadav) का सूरत (Surat) से विधायक कुमार कानाणी (Kumar Kanani) के बेटे प्रकाश के साथ हुई बहस का वीडियो वायरल होने के बाद तमाम लोग उनके समर्थन में आ गए थे और ट्विटर पर #i_support_sunita_yadav ट्रेंड करने लगा था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 13, 2020, 12:17 AM IST
  • Share this:
सूरत. गुजरात (Gujarat) के आरोग्य मंत्री और सूरत (Surat) से विधायक कुमार कानाणी (Kumar Kanani) के बेटे प्रकाश के साथ लॉकडाउन उल्लंघन (Lockdown Violation) को लेकर बहस करने वाली सूरत शहर की महिला पुलिस कांस्टेबल सुनीता यादव (Sunita Yadav) ने कथित तौर पर इस्तीफा दे दिया है. सुनीता ने ट्विटर के जरिये यह जानकारी दी. सुनीता ने रविवार को ट्वीट कर बताया कि- "मैंने एक मंत्री के बेटे से माँफी माँगने के बजाय नौकरी से इस्तीफा देना उचित समझा. आप सभी के समर्थन के लिए शुक्रिया." बता दें सोशल मीडिया (Social Media) पर सुनीता का वीडियो वायरल होने के बाद तमाम लोग उनके समर्थन में आ गए थे और ट्विटर पर #i_support_sunita_yadav ट्रेंड करने लगा था. सुनीता ने जिस ट्विटर अकाउंट से यह पोस्ट किया है वह मार्च 2012 में बनाया गया था. फिलहाल उनके इस्तीफे को लेकर कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है.

वहीं मंत्री के बेटे और उसके दो दोस्तों को सूरत में लॉकडाउन और रात्रि कर्फ्यू के कथित उल्लंघन के लिये रविवार को गिरफ्तार कर लिया गया. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी. स्वास्थ्य राज्यमंत्री तथा वराछा रोड से विधायक कुमार कनानी के बेटे प्रकाश कनानी और उसके दोस्तों की उन्हें रोकने का प्रयास कर रही महिला कांस्टेबल सुनीता यादव से तीखी बहस हो गई थी, जिसके ऑडियो क्लिप शनिवार को सोशल मीडिया पर वायरल हो गए थे. इसके बाद रविवार को उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया. ए-डिविजन के सहायक पुलिस आयुक्त सी के पटेल ने कहा कि प्रकाश कानाणी और उसके दो दोस्तों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 188, 269, 270 और 144 के तहत मामला दर्ज किया गया है. पटेल ने कहा कि बाद में उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया.


महिला कांस्टेबल का था ये आरोप
महिला कांस्टेबल ने आरोप लगाया था कि रात्रि कर्फ्यू के दौरान जब उन्होंने कुछ लोगों को रोका तो उन्होंने उन्हें धमकी दी थी. इसके बाद सूरत के पुलिस आयुक्त आर बी ब्रह्मभट्ट ने शनिवार को इस मामले की जांच के आदेश दिये थे. यादव ने कोरोना वायरस की रोकथाम के लिये लागू लॉकडाउन आदेशों का उल्लंघन करने के लिये बुधवार को रात्रि कर्फ्यू के दौरान करीब साढ़े दस बजे प्रकाश कनानी के दोस्तों को रोका था. इसके बाद दोस्तों ने प्रकाश कनानी को बुलाया, जो अपने पिता की कार में आया और कथित रूप से यादव से बहस करने लगा. इस बहस की ऑडियो क्लिप शनिवार को वायरल हो गई.



ये भी पढ़ें- "मैं तेरे बाप की नौकर नहीं हूं!" पढ़ें कॉन्स्टेबल सुनीता यादव और सूरत के MLA के बेटे की पूरी बहस
 ऑडियो क्लिप में उसे कांस्टेबल से यह कहते हुए सुना जा सकता है कि हम चाहें तो तुम्हें 365 दिन इसी जगह खड़ा रखवा सकते हैं. इस पर कांस्टेबल चिल्लाकर कहती है वह तुम्हारे पिता की गुलाम या नौकर नहीं है, जो उसे 365 दिन यहां खड़ा रखवा सकें. इस बीच पटेल ने कहा कि यादव बीमारी की छुट्टी पर चली गई हैं और मामले की जांच जारी है. (भाषा के इनपुट सहित)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading