सूरत हादसा: 10वीं क्लास की इस स्टूडेंट ने दोस्तों से कहा- मत हो परेशान, सूझबूझ से कुछ यूं बचाई जान

उर्मी के अनुसार कोचिंग सेंटर में फाइन आर्ट्स की पढ़ाई होती है. उर्मी ने कहा कि 'आग लगने के बाद कोचिंग सेंटर से बच्चों के नीचे गिरने का वीडियो भयावह है.'

News18Hindi
Updated: May 25, 2019, 10:49 AM IST
सूरत हादसा: 10वीं क्लास की इस स्टूडेंट ने दोस्तों से कहा- मत हो परेशान, सूझबूझ से कुछ यूं बचाई जान
PTI Photo
News18Hindi
Updated: May 25, 2019, 10:49 AM IST
गुजरात स्थित सूरत के तक्षशिला कॉम्प्लेक्स में आग लगने से 20 लोगों की मौत हो गई है. जब आग लगी तो कोचिंग सेंटर में क्लासेज चल रही थीं. इस दौरान एक बच्ची ने सूझबूझ से काम लिया और दूसरे बच्चों की मदद करते हुए टीचर के साथ सुरक्षित बाहर निकली.

10वीं कक्षा की छात्रा उर्मी हरसुखभाई वेकराई ने कहा कि मैंने यहां तीन दिन पहले ही ड्रॉइंग क्लासेज जॉइन की थी. जब भार्गव सर क्लास में पढ़ा रहे थए उस वक्त करीब 20-30 लड़के-लड़कियां मौजूद थे. अचानक से क्लास में धुंआ भर गया.. शुरू में हमें लगा कि किसी ने कागज जलाया होगा. कुछ देर बाद हमें पता लगा कि आग लग गई है और हर कोई परेशान हो कर कूदने लग गया.

उर्मी ने दोस्तों को समझाया
उर्मी ने कहा कि वह और उसके साथ एक लड़की ने बाकी को समझाया कि शांति बनाए रखें. हमने अपने टीचर को देखा कि वह खिड़कियों के नीचे जा रहे थे. उन पर यकीन करते हुए मैं भी आगे बढ़ी. मेरे साथ - साथ सर ने उस लड़की की भी मदद की. हम फायर ब्रिगेड की सीढ़ी की मदद से सुरक्षित जमीन पर पहुंच गए. इसी तरह से सर ने और बाकी बच्चों की भी मदद की. सबसे आखिरी में भार्गव सर आए.

यह भी पढ़ें:  सूरत हादसा: एक बिजली का खंबा ऐसे बन गया 20 बच्चों की मौत का कारण

उर्मी के अनुसार कोचिंग सेंटर में फाइन आर्ट्स की पढ़ाई होती है. उर्मी ने कहा कि 'आग लगने के बाद कोचिंग सेंटर से बच्चों के नीचे गिरने का वीडियो भयावह है. जो बच्चा गिरता हुआ दिखा वह गृष्मा मैम का है. आमतौर पर वह अपने बच्चे को लेकर नहीं आती लेकिन शुक्रवार को वह बच्चे के साथ आई थीं.'

पीएम ने व्यक्त किया दुख
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात के सूरत में भीषण आग दुर्घटना पर गहरा दुख व्यक्त किया. उन्होंने गुजरात सरकार और स्थानीय अधिकारियों से इस त्रासदी से प्रभावित लोगों को हर संभव सहायता उपलब्‍ध कराने का निर्देश दिया है.

यह भी पढ़ें: सूरत की आग में मारे गए इन बच्चों का आज आना था 12वीं का रिजल्ट

प्रधानमंत्री ने कहा कि 'सूरत में भीषण आग दुर्घटना से बेहद दुखी हूं. मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं. मैं घायलों के जल्दी ठीक होने की कामना करता हूं. मैंने गुजरात सरकार और स्थानीय अधिकारियों से प्रभावित लोगों को हर संभव सहायता प्रदान करने के लिए कहा है.'

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स


Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...