सूरत की दुकान ने खास दिन के लिए बनाई 9000 रुपये प्रति किलो वाली मिठाई

सूरत की दुकान में मिल रही गोल्‍ड घारी नाम की मिठाई. (Pic- ANI twitter)
सूरत की दुकान में मिल रही गोल्‍ड घारी नाम की मिठाई. (Pic- ANI twitter)

घारी (Gold Ghari) एक तरह की सूरत की स्‍थानीय मिठाई है. इसे चने की दाल, घी और सूखे मेवे डालकर बनाया जाता है. इसे सेव, गांठिया, फ्राई पोहे, बूंदी और पापड़ी के मिक्‍चर भूसू के साथ परोसा जाता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 1, 2020, 9:12 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. दीवाली (Diwali 2020) नजदीक है. ऐसे में भले ही हर साल की तरह रौनक नहीं दिख रही, लेकिन हलवाई की दुकानों पर तरह-तरह की मिठाई (Sweets) नजर आने लगी हैं. इस बीच गुजरात 1 नवंबर को चंडी पाड़वो (Chandi Padvo) मनाने के लिए तैयार है. ऐसे में सूरत में एक मिठाई की दुकान ने खास स्‍थानीय मिठाई को अलग अंदाज में बनाया है. इसके बाद यह आमतौर पर अधिकतम 820 रुपये प्रति किलोग्राम बिकने वाली यह मिठाई अब 9000 रुपये प्रति किलोग्राम बिक रही है.

इस मिठाई का नाम है घारी. यह सूरत की स्‍थानीय मिठाई है. भागल की एक दुकान ने अपने मेन्यू के लिए एक 'गोल्ड घारी' (Gold Ghari) लॉन्च की है. इसकी कीमत 9,000 रुपये प्रति किलोग्राम है, जबकि सामान्य घारी की कीमत 660-820 रुपये प्रति किलो है. दुकान के मालिक रोहन ने जानकारी देते हुए कहा कि मिठाई सोने की तरह हेल्‍दी और पौष्टिक है, क्योंकि सोने को आयुर्वेद में लाभकारी धातु माना जाता है.






रोहन ने यह भी बताया कि 'गोल्‍ड घारी' को लॉन्‍च किए हुए 3‍ दिन हो गए हैं. इसकी बिक्री की जितनी उम्‍मीद थी, उससे बिक्री थोड़ी कम है. लेकिन उन्‍हें आशा है कि अगले कुछ दिनों में इसे लोगों की अच्‍छी प्रतिक्रिया मिलेगी.

बता दें कि घारी एक तरह की सूरत की स्‍थानीय मिठाई है. इसे चने की दाल, घी और सूखे मेवे डालकर बनाया जाता है. इसे सेव, गांठिया, फ्राई पोहे, बूंदी और पापड़ी के मिक्‍चर भूसू के साथ परोसा जाता है. इसे चंडी पडवा के दिन खाने की रस्‍म है. सूरत में यह परंपरा 3 सदी से चली आ रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज