Home /News /nation /

डेढ़ साल में देश के ग्रामीण क्षेत्रों में 37 फीसदी स्‍टूडेंट ने छोड़ दिया स्‍कूल: सर्वे

डेढ़ साल में देश के ग्रामीण क्षेत्रों में 37 फीसदी स्‍टूडेंट ने छोड़ दिया स्‍कूल: सर्वे

स्‍कूली शिक्षा पर पड़ा कोरोना वायरस का असर. (Pic- AP)

स्‍कूली शिक्षा पर पड़ा कोरोना वायरस का असर. (Pic- AP)

Coronavirus: सर्वे में यह भी कहा गया है कि ग्रामीण भारत के सिर्फ 8 फीसदी स्‍टूडेंट को ही ऑनलाइन शिक्षा मुहैया हुई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :

    नई दिल्‍ली. देश-दुनिया में पिछले करीब डेढ़ साल से कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) का कहर बरप रहा है. इसके कारण कई तरह से लोगों की रोजाना की जिंदगी भी प्रभावित हुई है. अब एक सर्वे में दावा किया गया है कि इन पिछले 18 महीनों में भारत के ग्रामीण इलाकों (Rural India) के 37 फीसदी स्‍टूडेंट (Rural Students) ने स्‍कूल छोड़ दिया है. ये 37 फीसदी स्‍टूडेंट देश के 15 राज्‍यों के ग्रामीण क्षेत्रों से आते हैं. साथ ही सर्वे में यह भी कहा गया है कि ग्रामीण भारत के सिर्फ 8 फीसदी स्‍टूडेंट को ही ऑनलाइन शिक्षा मुहैया हुई है.

    यह सर्वे जाने माने अर्थशास्त्री जीन द्रेजे की देखरेख में 100 वॉलंटियर्स द्वारा आयोजित किया गया था. इस सर्वे का नाम ‘स्कूली शिक्षा पर आपातकालीन रिपोर्ट’ रखा गया है. इसके तहत 1300 परिवारों से जानकारी जुटाई गई है. सर्वे में कहा गया है कि स्कूल बंद हुए 17 महीने हो चुके हैं और इससे स्कूली छात्रों के लिए विनाशकारी परिणाम सामने आए हैं. रिपोर्ट में लंबे समय तक स्कूलों को बंद किया जाना अब तक का सबसे लंबा समय कहा गया है.

    इसका प्रभाव ग्रामीण क्षेत्रों में साफतौर पर देखा गया है. इसके मुताबिक शहरी क्षेत्रों के 19 फीसदी बच्चों की तुलना में लगभग 37 फीसदी ग्रामीण बच्चे पढ़ाई छोड़ चुके हैं या बिल्कुल भी नहीं पढ़ रहे हैं.

    ग्रामीण क्षेत्रों में केवल 8 फीसदी और शहरी क्षेत्रों में एक चौथाई बच्चे नियमित रूप से ऑनलाइन पढ़ाई कर रहे हैं. एक बड़े हिस्से की स्मार्टफोन तक पहुंच है. लेकिन ग्रामीण परिवारों से जी गई जानकारी के अनुसार आधे परिवारों के पास स्‍मार्टफोन नहीं है. इनमें यहां तक ​​कि बच्चों के पास गैजेट नहीं हैं या इंटरनेट कनेक्टिविटी नहीं है या डेटा पैक के लिए पैसे नहीं थे.

    लॉकडाउन के दौरान स्कूल फीस देने में असमर्थता के कारण लगभग 26 फीसदी बच्चे सरकारी स्कूलों में चले गए थे. इन्‍होंने पहले निजी स्‍कूलों में दाखिला ले रखा था. कई अन्य छात्र अभी भी निजी स्कूलों में फंसे हुए हैं क्योंकि स्कूल ट्रांसफर प्रमाण पत्र देने से पहले पूरी फीस चुकाने पर जोर दे रहे हैं.

    Tags: Coronavirus, School

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर