Home /News /nation /

surya grahan 2022 partial solar eclipse will be visible on april 30 why called is black moon

Surya Grahan: इस तारीख को सूरज पर पड़ेगी 'काले चंद्रमा' की छाया, घटित होगा 2022 का पहला आंशिक सूर्य ग्रहण 

इस साल शनि अमावस्या पर 30 अप्रैल को सूर्य ग्रहण लग रहा है. (Photo: Pixabay)

इस साल शनि अमावस्या पर 30 अप्रैल को सूर्य ग्रहण लग रहा है. (Photo: Pixabay)

Solar Eclipse 2022: 2022 का पहला सूर्य ग्रहण (Solar Eclipse) शनिवार 30 अप्रैल को दुनिया के कई हिस्सों में देखा जाएगा. यह एक आंशिक सूर्य ग्रहण होगा. इस साल दो सूर्य ग्रहण लगेंगे. इनमें पहला 30 अप्रैल को और दूसरा 25 अक्टूबर को घटित होगा. 30 को अप्रैल को घटित होने वाला यह आंशिक सूर्य ग्रहण भारत में नहीं दिखाई देगा इसलिए यहां पर इसका धार्मिक महत्व और सूतक नहीं माना जाएगा.  खास बात है कि इस आंशिक सूर्य ग्रहण को खगोलविदों ने ब्लैक मून भी कहा है. यूएस नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (NASA) के अनुसार, सूर्यास्त से ठीक पहले और इसके दौरान चंद्रमा सूर्य के कुछ हिस्से को अवरुद्ध कर देगा, जिससे आंशिक ग्रहण होगा.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली: साल 2022 का पहला सूर्य ग्रहण (Solar Eclipse) शनिवार 30 अप्रैल को दुनिया के कई हिस्सों में देखा जाएगा. यह एक आंशिक सूर्य ग्रहण होगा. सूर्य ग्रहण एक महत्वपूर्ण खगोलीय घटना है लेकिन हिन्दू धर्म व वैदिक ज्योतिष में इसे बेहद अहम माना गया है. क्योंकि वेदों में सूर्य को जगत की आत्मा कहा गया है और सूर्य के प्रकाश के बिना इस धरती पर जीवन संभव नहीं है. इस साल दो सूर्य ग्रहण लगेंगे. इनमें पहला 30 अप्रैल को और दूसरा 25 अक्टूबर को घटित होगा. 30 को अप्रैल को घटित होने वाला यह आंशिक सूर्य ग्रहण भारत में नहीं दिखाई देगा इसलिए यहां पर इसका धार्मिक महत्व और सूतक नहीं माना जाएगा.

खास बात है कि इस आंशिक सूर्य ग्रहण को खगोलविदों ने ब्लैक मून भी कहा है. यूएस नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (NASA) के अनुसार, सूर्यास्त से ठीक पहले और इसके दौरान चंद्रमा सूर्य के कुछ हिस्से को अवरुद्ध कर देगा, जिससे आंशिक ग्रहण होगा.

‘ब्लैक मून’ एक दुर्लभ घटना है और हमने 2021 में इस घटना का अनुभव नहीं किया था. यह आधिकारिक खगोलीय शब्द नहीं है. ProfoundSpace.org के मुताबिक, ‘ब्लैक मून’ की कोई एक परिभाषा नहीं है. लेकिन ज्यादातर, इस शब्द का इस्तेमाल आमतौर पर अमावस्या से जुड़ी किसी भी घटना को संदर्भित करने के लिए किया जाता है, क्योंकि अमावस्या चरण के दौरान, चंद्रमा हमेशा काला होता है.

सूर्य ग्रहण पर गर्भवती महिलाएं ध्यान रखें ये 7 महत्वपूर्ण बातें, ना करें लापरवाही

30 अप्रैल की मध्य रात्रि में आंशिक सूर्य ग्रहण

2022 का पहला सूर्य ग्रहण भारतीय समयानुसार 30 अप्रैल की मध्य रात्रि 12 बजकर 15 मिनट से शुरू होगा और सुबह 4 बजकर 7 मिनट तक रहेगा. ये आंशिक सूर्य ग्रहण होगा . इसमें चंद्रमा सूर्य के प्रकाश के सिर्फ एक हिस्से को ही बाधित करेगा. अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के अनुसार, चंद्रमा अपनी छाया का केवल बाहरी भाग ही सूर्य पर डालेगा.

इस वर्ष का पहला सूर्य ग्रहण अंटार्कटिका, अटलांटिक क्षेत्र, प्रशांत महासागर, साउथ अमेरिका समेत अन्य हिस्सों में देखा जाएगा. बता दें कि भारत में यह आंशिक सूर्य ग्रहण नहीं दिखाई देगा इसलिए इसका धार्मिक महत्व और सूतक मान्य नहीं होगा.

Tags: Lunar eclipse, Nasa, Solar eclipse

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर