सुशांत के बहाने हमारे राज्य को बदनाम करने वाले मांगें माफी: महाराष्ट्र गृह मंत्री

महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि सुशांत केस के बहाने राज्य को बदनाम करने की साजिश रची गई. (फाइल फोटो)
महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि सुशांत केस के बहाने राज्य को बदनाम करने की साजिश रची गई. (फाइल फोटो)

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) के चिकित्सा बोर्ड (Medical Board) ने पिछले सप्ताह एक रिपोर्ट में राजपूत की हत्या किए जाने से इनकार किया है. अब अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) ने कहा है-कुछ पार्टियों ने महाराष्ट्र, मुंबई पुलिस को बदनाम करने की कोशिश की. उन्हें महाराष्ट्र से माफी मांगनी चाहिए

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 6, 2020, 8:19 PM IST
  • Share this:
मुंबई. अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) मामले पर एम्स (AIIMS) की रिपोर्ट के बाद महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) ने मंगलवार को उन लोगों से माफी की मांग की जिन्होंने इस मामले पर राज्य को 'बदनाम' किया है. दरअसल, अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के चिकित्सा बोर्ड ने पिछले सप्ताह एक रिपोर्ट में राजपूत की हत्या किए जाने से इनकार किया है और इसे 'लटकने और खुदकुशी से मौत होने का मामला' बताया है. राजपूत (34) 14 जून को अपने बांद्रा स्थित फ्लैट में फंदे से लटके मिले थे.

अगस्त में सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर सीबीआई को सौंपी गई थी जांच
मुंबई पुलिस ने मामले की शुरुआती जांच की थी लेकिन सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अगस्त में मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी गई. इस मामले को लेकर महाराष्ट्र और बिहार पुलिस के बीच भी टकराव देखा गया था. देशमुख ने पत्रकारों से कहा, 'महाराष्ट्र कोविड-19 से लड़ रहा था. ऐसे समय में छत्रपति शिवाजी महाराज के महाराष्ट्र को बदनाम करने की साजिश रची गई.'


'महाराष्ट्र, मुंबई पुलिस को बदनाम करने की कोशिश की गई'


किसी भी पार्टी का नाम लिए बिना मंत्री ने कहा, 'कुछ पार्टियों ने महाराष्ट्र, मुंबई पुलिस को बदनाम करने की कोशिश की. उन्हें महाराष्ट्र से माफी मांगनी चाहिए, अन्यथा, महाराष्ट्र के लोग उन्हें क्षमा नहीं करेंगे.'

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से पूछे सवाल
उन्होंने बिहार चुनाव के लिए भाजपा के प्रभारी देवेंद्र फडणवीस से पूछा कि क्या वह बिहार के पूर्व पुलिस प्रमुख और जदयू नेता गुप्तेश्वर पांडे के लिए भी प्रचार करेंगे जिन्होंने इस मामले को लेकर महाराष्ट्र और मुंबई पुलिस को 'बदनाम' किया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज