सुशांत सिंह राजपूत के गले में पड़े निशान सामान्‍य खुदकुशी के नहीं, AIIMS की रिपोर्ट में दावा

सुशांत सिंह राजपूत की विसरा रिपोर्ट एम्‍स ने सीबीआई को सौंप दी है.
सुशांत सिंह राजपूत की विसरा रिपोर्ट एम्‍स ने सीबीआई को सौंप दी है.

Sushant Singh Rajput Case: सीबीआई (CBI) ने बयान जारी कर कहा है कि सुशांत सिंह राजपूत मामले में अभी किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंचा जा सका है. फिलहाल सभी पहलुओं पर जांच जारी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 29, 2020, 1:46 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. सुशांत सिंह राजपूत मौत केस (Sushant Singh Rajput Death Case) में मंगलवार को बड़ी बात सामने आई है. केस की जांच कर रही सीबीआई (CBI) को सोमवार को एम्‍स ने सुशांत के विसरा की जांच रिपोर्ट (Sushant viscera report) सौंप दी थी. एम्‍स (AIIMS) ने रिपोर्ट में यह बात कही है कि सुशांत के विसरा में किसी तरह के जहर का कोई सबूत नहीं मिला है. हालांकि एम्‍स की रिपोर्ट में कई ऐसे तथ्‍य हैं, जो यह भी संकेत कर रहे हैं कि सुशांत सिंह राजपूत की आत्‍महत्‍या साधारण खुदकुशी नहीं थी. रिपोर्ट में कहा गया है कि गले का लिगेचर मार्क सामान्‍य खुदकुशी की तरह नहीं है.

एम्‍स से रिपोर्ट मिलने के बाद सीबीआई टीम दिल्‍ली से मुंबई लौट गई है. दिल्‍ली में सिर्फ एक अफसर रुके हैं. अब माना जा रहा है कि सीबीआई अब एक बार फिर एक्‍शन में आ सकती है. कहा जा रहा है कि सीबीआई जल्‍द ही कोई बड़ी कार्रवाई भी कर सकती है. सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले की जांच में जुटी सीबीआई को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) ने प्राइमरी रिपोर्ट, विसरा रिपोर्ट और ऑटोप्सी रिपोर्ट सौंप दी है. सुशांत की विसरा रिपोर्ट को लेकर बड़ी जानकारी सामने आ रही है. एम्स के डॉक्टरों को सुशांत के शरीर में किसी तरह का ऑर्गेनिक पॉयजन नहीं मिला. इसके साथ ही फोरेंसिक टीम ने कूपर हॉस्पिटल में हुए पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर भी सवाल उठाया है.

14 जून को सुशांत की मौत के बाद से ही कई तरह के सवाल उठ रहे हैं. जिसके बाद सीबीआई के कहने पर डॉ. सुधीर गुप्ता की अध्यक्षता में एम्स का मेडिकल पैनल बनाया गया था, ताकि पोस्टमार्टम और विसरा रिपोर्ट का बारीकी से विश्लेषण किया जा सके.

सीबीआई ने बयान जारी कर कहा है कि सुशांत सिंह राजपूत मामले में अभी किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंचा जा सका है. फिलहाल सभी पहलुओं पर जांच जारी है. ऐसे में एम्स के विशेषज्ञ डॉक्टर सुधीर गुप्ता की राय अहम होगी. उनकी राय के बाद ही सीबीआई इस बात का फैसला करेगी कि इस केस में कार्रवाई आत्महत्या के एंगल से होगी या हत्या के एंगल से.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज