Home /News /nation /

2+2 वार्ता से पहले सुषमा स्वराज और निर्मला सीतारमण से मिले पोम्पिओ

2+2 वार्ता से पहले सुषमा स्वराज और निर्मला सीतारमण से मिले पोम्पिओ

एम आर पोम्पिओ, जेम्स मैटिस, सुषमा स्वराज और निर्मला सीतारमण (Image:@MEAIndia)

एम आर पोम्पिओ, जेम्स मैटिस, सुषमा स्वराज और निर्मला सीतारमण (Image:@MEAIndia)

पोम्पिओ और मैटिस पहली भारत-अमेरिका 'टू प्लस टू' वार्ता के लिए बुधवार को यहां पहुंचे. पीएम मोदी की पिछले साल हुई अमेरिका यात्रा में इस वार्ता को निर्धारित किया गया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
    भारत और अमेरिका के बीच 'टू प्लस टू' वार्ता से पहले विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को अमेरिकी विदेश मंत्री एम आर पोम्पिओ, रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस से अलग-अलग मुलाकात की. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि मुलाकातों में कई महत्वपूर्ण द्विपक्षीय विषयों पर चर्चा होनी है.

    पोम्पिओ और मैटिस पहली भारत-अमेरिका टू प्लस टू वार्ता के लिए बुधवार को यहां पहुंचे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पिछले साल हुई अमेरिका यात्रा में इस वार्ता को निर्धारित किया गया था. सुषमा स्वराज ने बुधवार को यहां एयरपोर्ट पर अमेरिकी विदेश मंत्री पोम्पिओ की अगवानी की वहीं सीतारमण ने रक्षा मंत्री मैटिस का स्वागत किया. यह दर्शाता है कि भारत अमेरिकी मंत्रियों की इस यात्रा को कितना महत्व देता है.

    इस मौके पर रक्षा मंत्री जिम मैटिस ने कहा कि हम भारत और अमेरिका के बीच संबंधों को और मजबूत बनाने के लिए अग्रसर हैं. उन्‍होंने कहा कि मैं केरल बाढ़ में मारे गए लोगों के प्रति शोक व्यक्त करना चाहता हूं और इतनी सारी जान बचाने के लिए भारतीय सेना की सराहना करता हूं. हम उन लोगों के साथ हैं जो अपने प्रियजनों को खो चुके हैं. हम भारत-अमेरिका संबंध को दुनिया की दो सबसे बड़ी लोकतंत्रों के बीच प्राकृतिक साझेदारी के रूप में देखते हैं. हमारी साझेदारी संयुक्त रणनीतिक हितों पर आधारित है.



    भारत की रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि भारत और संयुक्त राज्य अमेरिका के बीच मंत्रिस्तरीय 2+2 वार्ता की शुरुआत हमारे नेताओं के बीच मजबूत रिश्‍तों की पहचान है. यह बैठक पिछले कुछ वर्षों में हमारे संबंधों को विकसित करने में किए गए जबरदस्त काम को दर्शाता है. भारत की रक्षामंत्री सीतारमण ने बताया कि अमेरिका के रक्षा मंत्री जिम मैटिस के साथ सुबह हुई बातचीत में रक्षा सहयोग से जुड़े मुद्दों पर बातचीत हुई. रक्षा सहयोग हमारे महत्‍वपूर्ण संबंधों में से एक हैं.

    भारत-अमेरिका सहयोग और रक्षा क्षेत्र में हमारी साझेदारी और बढ़ती परिपक्वता को दर्शाता है. उन्‍होंने कहा कि हर बैठक के बाद हमारे रक्षा क्षेत्र को और ताकत मिलती है. आज भारत रक्षा के क्षेत्र में अमेरिका के साथ जितना काम कर रहा है उतना किसी अन्‍य देशों के साथ नहीं कर रहा. बात चाहे किसी प्रशिक्षण की हो या फिर संयुक्‍त अभ्‍यास की अमेरिका और भारत के बीच रक्षा नीति मजबूत हुई है.

    वहीं विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले साल अमेरिका का दौरा किया था, जिसके बाद से भारत और अमेरिका के बीच की साझेदारी लगातार बढ़ रही है. हम भारत को दुनिया में तेजी से बढ़ती वैश्‍विक शक्‍ति के रूप में देखते हैं और उसका समर्थन करते हैं. उन्‍होंने कहा कि हम इस साझेदारी के लिए भारत की समान प्रतिबद्धता का स्वागत करते हैं. दोनों राष्ट्र लोकतंत्र,  व्यक्तिगत अधिकार और स्वतंत्रता के प्रति एकजुट हैं. उन्‍होंने कहा कि हमें समुद्र और आसमान की स्वतंत्रता और क्षेत्रीय समुद्री विवादों के शांतिपूर्ण संकल्प को सुनिश्चित करना चाहिए.

    (इनपुट भाषा से भी)

    Tags: Sushma swaraj

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर