• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • सुषमा स्‍वराज की बेटी बांसुरी ने निभाया मां का ये आखिरी वादा

सुषमा स्‍वराज की बेटी बांसुरी ने निभाया मां का ये आखिरी वादा

कुलभूषण जाधव मामले में भारत का पक्ष रखने के लिए सुषमा स्‍वराज की बेटी बांसुरी ने आज वरिष्‍ठ वकील हरीश साल्‍वे को 1 रुपये की फीस दी है.

कुलभूषण जाधव मामले में भारत का पक्ष रखने के लिए सुषमा स्‍वराज की बेटी बांसुरी ने आज वरिष्‍ठ वकील हरीश साल्‍वे को 1 रुपये की फीस दी है.

कुलभूषण जाधव मामले (Kulbhushan Jadhav Case) में आईसीजे (ICJ) में भारत का पक्ष रखने वाले वरिष्‍ठ वकील हरीश साल्‍वे (harish salve) को शुक्रवार को उनकी फीस 1 रुपये मिल गई है. सुषमा स्‍वराज (sushma swaraj) की बेटी बांसुरी ने आज साल्‍वे को उनकी फीस दी.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:
    नई दिल्‍ली. पूर्व विदेश मंत्री और भारतीय जनता पार्टी की दिग्‍गज नेता सुषमा स्‍वराज (Sushma Swaraj) की बेटी बांसुरी ने वरिष्‍ठ वकील हरीश साल्‍वे (harish salve) की 1 रुपये की फीस दी है. दरअसल, हरीश साल्‍वे से जब कुलभूषण जाधव मामले (Kulbhushan Jadhav Case) में आईसीजे (ICJ) में भारत की ओर से पक्ष रखने के लिए कहा गया तो उन्‍होंने तत्‍कालीन विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज से मात्र 1 रुपये की फीस की डिमांड की थी. बांसुरी ने शुक्रवार को मां के वादे को पूरा करते हुए उन्‍हें 1 रुपये की फीस दी है.

    सुषमा स्‍वराज के पति स्‍वराज कौशल ने शुक्रवार को ट्विट किया, 'बांसुरी ने आज तुम्हारी अंतिम इच्छा को पूरा कर दिया है. कुलभूषण जाधव के केस की फ़ीस का एक रुपया जो आप छोड़ गयीं थीं उसने आज श्री हरीश साल्वे जी को भेंट कर दिया है.'



    बता दें कि हरीश साल्‍वे ने अंतरराष्‍ट्रीय न्‍यायालय (आईसीजे) में जाधव मामले में भारत का प्रतिनिधित्‍व करने के लिए एक रुपये की फीस की डिमांड की थी. हालांकि सुषमा स्‍वराज का निधन होने के कारण साल्‍वे को उनकी फीस नहीं मिल पाई थी. आज साल्‍वे को उनकी फीस मिल गई है.

    सुषमा स्‍वराज का यह वादा रह गया था अधूरा
    जिस दिन सुषमा स्‍वराज का निधन हुआ था, उसी दिन उन्‍होंने साल्‍वे से कहा था कि कल सुबह 6 बजे आकर अपनी 1 रुपये की बकाया ले जाइएगा. लेकिन, सुषमा स्‍वराज का उसी दिन निधन हो गया था. और उनका फीस अदा करने का वादा अधूरा ही रह गया. वरिष्‍ठ वकील हरीश साल्‍वे ने सुषमा स्‍वराज से अंतिम बातचीत के बारे में बताया था. उन्‍होंने कहा था कि ये बातचीत काफी भावनात्‍मक थी.

    पाकिस्‍तान ने भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को मार्च, 2016 में गिरफ्तार करके जेल भेज दिया था. जाधव पर जासूसी का आरोप लगाया गया था. उसके बाद वहां की सैन्‍य अदालत में जाधव का मुकदमा चलाया गया. पाकिस्‍तान ने जाधव से भारत को मिलने की अनुमति भी नहीं दी थी.

    पाकिस्‍तान ने जब जाधव को मौत की सजा सुनाई तो भारत ने इस मामले को लेकर इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (आईसीजे) में उठाया. हरीश साल्‍वे ने भारत की ओर से कुलभूषण जाधव का पक्ष रखा था. साल्‍वे ने ही जाधव को काउंसलर एक्‍सेस देने की मांग की.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज