सुषमा स्वराज और उनके पति के नाम पर दर्ज हैं ये रिकॉर्ड, लिम्का बुक में मिली जगह

Sushma Swaraj Death: सुषमा स्वराज ने संस्कृत और राजनीति शास्त्र से ग्रेजुएशन किया था. वह अपने जोरदार भाषण के लिए लोकप्रिय थीं. लोग उन्हें सुनना चाहते थे. उन्होंने संयुक्त राष्ट्र महासभा तक हिंदी में जोरदार भाषण देने के लिए सराहा जाता है.

News18Hindi
Updated: August 7, 2019, 4:01 PM IST
सुषमा स्वराज और उनके पति के नाम पर दर्ज हैं ये रिकॉर्ड, लिम्का बुक में मिली जगह
पति स्वराज कौशल के साथ सुषमा स्वराज
News18Hindi
Updated: August 7, 2019, 4:01 PM IST
पूर्व विदेश मंत्री, बीजेपी की दिग्गज नेता और ओजस्वी वक्ता सुषमा स्वराज के निधन से पूरा देश गमगीन है. सुषमा स्वराज निजी जीवन में बेहद सौम्य और सरल थीं. वह दूसरों की मदद के लिए हमेशा तैयार रहती थीं. कम उम्र में उन्होंने कई उपलब्धियां पाई थीं. इसी वजह से उनका नाम लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज है. इस बुक में उनके पति स्वराज कौशल का नाम भी दर्ज है.

सुषमा ने मुझे कभी नाम से नहीं पुकारा, वो हमेशा भाई कहती थीं: गुलाम नबी आज़ाद

दरअसल, सुषमा स्वराज ने संस्कृत और राजनीति शास्त्र से ग्रेजुएशन किया था. वह अपने जोरदार भाषण के लिए लोकप्रिय थीं. लोग उन्हें सुनना चाहते थे. उन्हें संयुक्त राष्ट्र महासभा तक हिंदी में जोरदार भाषण देने के लिए सराहा जाता है. सुषमा स्वराज को हरियाणा के भाषा विभाग की तरफ से आयोजित हिंदी वक्ता प्रतियोगिता में लगातार तीन साल तक श्रेष्ठ वक्ता का खिताब मिला था. हरियाणा राज्य विधानसभा की तरफ से उन्हें श्रेष्ठ हिंदी वक्ता के तौर पर सम्मानित भी किया जा चुका है.

sushma swaraj husband
सुषमा स्वराज और स्वराज कौशल कॉलेज के दिनों से एक-दूसरे को जानते थे.


सुषमा स्वराज के नाम दर्ज है ये रिकॉर्ड
सुषमा स्वराज चार बार केंद्रीय मंत्री रह चुकीं हैं. वह दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री भी रहीं. उनके पास देश की पहली महिला पूर्णकालिक विदेश मंत्री होने का भी रिकॉर्ड है. लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में सुषमा स्वराज का नाम पहली महिला सर्वश्रेष्ठ सांसद होने, किसी राष्ट्रीय राजनीतिक दल की पहली महिला प्रवक्ता, महज 25 साल में ही हरियाणा सरकार में कैबिनेट मंत्री बनने जैसे रिकॉर्ड दर्ज हैं.

21 साल में सुप्रीम कोर्ट की वकील और 25 साल में मंत्री बनने वाली सुषमा की जिंदगी से जुड़ी 10 खास बातें
Loading...

पति के नाम पर भी है कई रिकॉर्ड
सुषमा स्वराज के पति स्वराज कौशल समाजवादी कैंप से जुड़े रहे हैं. वह सुप्रीम कोर्ट के जाने माने सीनियर वकील हैं. उनकी बेटी भी वकील हैं. स्वराज कौशल के नाम पर सबसे कम उम्र में किसी राज्य का राज्यपाल बनने का रिकॉर्ड दर्ज है. स्वराज महज 38 साल की उम्र में ही मिजोरम के राज्यपाल बन गए थे.

sushma family
सुषमा स्वराज दूसरों की मदद के लिए हमेशा तैयार रहती थीं.


पूर्वोत्तर मामलों के जानकार हैं स्वराज कौशल
कौशल स्वराज कौशल भारत में पूर्वोत्तर मामलों के जानकार माने जाते हैं. 1979 में उन्होंने ही अंडरग्राउंड मिजो लीडर लालडेंगा की रिहाई संभव कराई थी. जिसके बाद उन्हें अंडरग्राउंड मिजो नेशनल फ्रंट का संवैधानिक सलाहकार बनाया गया.

बता दें कि सुषमा स्वराज और स्वराज कौशल कॉलेज के दिनों से एक-दूसरे को जानते थे. इसी दौरान उनका प्यार परवान चढ़ा और शादी हुई.

जेपी आंदोलन का हिस्सा थीं सुषमा स्वराज! इंदिरा गांधी से लेकर सोनिया तक से लिया लोहा!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 7, 2019, 12:08 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...