होम /न्यूज /राष्ट्र /गिरफ्तार हुआ संदिग्ध आतंकी, रविवार को भी पकड़े गए थे 2, कहीं 'जिहादी गतिविधियों' का केंद्र तो नहीं बन रहा असम?

गिरफ्तार हुआ संदिग्ध आतंकी, रविवार को भी पकड़े गए थे 2, कहीं 'जिहादी गतिविधियों' का केंद्र तो नहीं बन रहा असम?

असम पुलिस ने बृहस्पतिवार को एक और संदिग्ध आतंकी को गिरफ्तार किया है.   (फोटो-न्यूज़18)

असम पुलिस ने बृहस्पतिवार को एक और संदिग्ध आतंकी को गिरफ्तार किया है. (फोटो-न्यूज़18)

असम के बोंगाईगांव जिले से एक व्यक्ति को भारतीय उपमहाद्वीप में अल-कायदा से कथित संबंधों के आरोप में गिरफ्तार किया गया है ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

असम पुलिस गोपालपरा से संदिग्ध आतंकी कोई गिरफ्तार किया है.
पिछले रविवार को भी आतंकी गतिविधि में संलिप्त दो लोगो को गिरफ्तार गया था.
असम में इस साल के मार्च से अबतक 40 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है.

गोलपारा: असम के बोंगाईगांव जिले से एक व्यक्ति को भारतीय उपमहाद्वीप में अल-कायदा से कथित संबंधों के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. पुलिस ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि आरोपी उन तीन लोगों में शामिल है, जिन्हें राज्य पुलिस ने इस सप्ताह ‘आतंकवादी संगठन से संबंध’ रखने के आरोप में गिरफ्तार किया है. पुलिस अधिकारी ने बताया कि तीसरा गिरफ्तार व्यक्ति गोलपारा का रहने वाला है. आरोपी को पांच दिनों के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है. पुलिस ने कहा कि दो इस्लामिक मौलवियों, जिनके आतंकवादी संगठन के सदस्य होने का भी संदेह है, को 21 अगस्त को गोलपारा से गिरफ्तार किया गया था. उन पर मुस्लिम युवाओं को कथित रूप से कट्टरपंथी बनाने और “पिछले तीन-चार वर्षों में जिहादी गतिविधियों” में शामिल होने के आरोप हैं. तीसरी गिरफ्तारी के बाद, पुलिस महानिदेशक भास्कर ज्योति महंत ने गुरुवार को यहां आईजीपी (पश्चिमी रेंज) दिलीप कुमार डे और गोलपारा, बारपेटा और बोंगईगांव जिलों के पुलिस अधीक्षकों के साथ बैठक की. बैठक में राज्य में चल इस तरह की ‘जिहादी गतिविधियों’ पर विस्तृत चर्चा की गई. 

डीजीपी ने बैठक के बाद संवाददाताओं को संबोधित करते हुए बताया कि जिले से गिरफ्तार किए गए तीन लोगों के “कई लोगों के साथ संबंध पाए गए, जो जिहादी गतिविधियों में शामिल थे और राज्य में पहले पकड़े गए थे, साथ ही एक सदस्य को पश्चिम बंगाल में पकड़ा गया था.” हम इस बात की भी जांच कर रहे हैं कि क्या उनके मध्य प्रदेश में गिरफ्तार किए गए लोगों से भी संबंध हैं? डीजीपी महंत ने बताया कि विश्वसनीय सूत्रों से पता चला कि जिलों में स्लीपर सेल हैं जहां युवाओं को कट्टरपंथी बनाने के लिए प्रशिक्षण दिया जाता है और कई जिहादी साहित्य और पोस्टर बरामद किए गए हैं.

पुलिस अधिकारी ने कहा कि जांच के दौरान यह भी पाया गया है कि कुछ इमाम जो राज्य के बाहर से आए थे और ‘अल्पसंख्यक’ बहुल इलाके में मदरसा स्थापित कर अपनी गतिविधियों को अंजाम दे रहे थे. उन्होंने बताया, “एक मदरसा संबंधित अधिकारियों की अनुमति के बिना एक क्षेत्र में नहीं आ सकता, आवश्यक नियमों और विनियमों का पालन करना होता है.” डीजीपी ने आगे कहा कि मुस्लिम समुदाय के लोग भी ‘जिहादी गतिविधियों’ में कथित रूप से शामिल लोगों को गिरफ्तार करने के लिए जिला प्रशासन के साथ सहयोग कर रहे हैं.

मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने हाल ही में कहा था कि असम “जिहादी गतिविधियों” का केंद्र बन गया है. क्योंकि सिर्फ पांच महीनों में बांग्लादेश स्थित आतंकी संगठन अंसारुल इस्लाम से जुड़े पांच मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया गया.

अधिकारी ने कहा कि पुलिस ने इस साल मार्च से अब तक राज्य से लगभग 40 लोगों को गिरफ्तार किया है. पुलिस, “विशेष रूप से निचले और मध्य असम के अल्पसंख्यक बहुल इलाकों में कड़ी निगरानी रखी जा रही है.”

Tags: Assam news, Terrorist arrested

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें