Home /News /nation /

सवर्ण लड़की से अफेयर के शक में दलित युवक की पिटाई, 12वीं का पेपर देने से भी रोका

सवर्ण लड़की से अफेयर के शक में दलित युवक की पिटाई, 12वीं का पेपर देने से भी रोका

गुजरात में दलित युवक की पिटाई

गुजरात में दलित युवक की पिटाई

इस घटना के बाद गुजरात के दलितों में गुस्सा है. दलित नेता और वडगाम से निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवाणी ने कहा, 'गुजरात ने दलित युवाओं के खून से होली खेली.’

    उत्तरी गुजरात के मेहसाणा में कक्षा 12वीं के एक 17 वर्षीय दलित छात्र की पिटाई की खबर सामने आई है. कथित तौर पर 18 मार्च की दोपहर में दो लोगों ने छात्र को पेड़ से बांध दिया और निर्दयतापूर्वक उसकी पिटाई. छात्र की पिटाई के बाद की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं. इन तस्वीरों में उसके शरीर पर चोट के निशान आ रहे हैं. वहीं, लोकसभा चुनाव से ठीक पहले हुई इस घटना से दलित गुस्से में है.

    केस डिटेल के अनुसार, पीड़ित की कक्षा 12 की परीक्षाएं चल रही हैं. घटना उस वक्त घटी जब वह इंग्लिश का पेपर देने गया था. पीड़ित को फिलहाल मेहसाणा के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

    पीड़ित की एफआईआर में दर्ज बयान के अनुसार, "मैं करीब 1 बजे बस से धिनौज गांव में स्थित परीक्षा केंद्र, सार्वजनिक विद्या मंदिर हाई स्कूल पहुंचा. जब मैं परीक्षा केंद्र के बाहर इंतजार कर रहा था तभी रमेश सिंह, जिसे में चेहरे से जानता हूं और जो स्टेट ट्रांसपोर्ट में बस कंडक्टर है, मेरे पासा आया. उसने कहा कि उसे मुझसे कुछ काम है और अपने साथ आने के लिए कहा. वह मुझे एक दूसरे आदमी के पास ले गया जो बाइक पर इंतजार कर रहा था. दोनों मुझे पास के गांव के खेत में लेकर गए.”

    पीड़ित का कहना है कि उसने दोनों से कहा कि वे उसे छोड़ दें नहीं तो पेपर छूट जाएगा, लेकिन दोनों ने कहा कि वह चिंता न करे पेपर शुरू होने से पहले वे उसे परीक्षा केंद्र पहुंचा देंगे. बाद में दोनों ने उसे एक नीम के पेड़ पर बांध दिया और छड़ी से उसकी पिटाई शुरू कर दी.

    पीड़ित की मां ने कहा, 'जब उनके बेटे ने उनसे पीटने की वजह पूछी, तो उन्होंने उसे गाली दी और कहा कि उसे पढ़ने और परीक्षा देने के बजाए मजदूरी करनी चाहिए. इस घटना के बाद गुजरात के दलितों में गुस्सा है. दलित नेता और वडगाम से निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवाणी ने कहा कि 'गुजरात ने दलित युवाओं के खून से होली खेली.’

    मेवाणी ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा, "कल्पना कीजिए कि आप अपने 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा के लिए पढ़ाई कर रहे हैं. आप परीक्षा केंद्र में प्रवेश करने वाले हैं. यह अपने भविष्य और करियर के बारे में सोचने का क्षण है. परीक्षा से कुछ मिनट पहले दो अजनबी लोग आपको बुलाते हैं और आपको एक अनजान जगह पर ले जाते हैं. इसके बाद वे आपको पेड़ से बांध देते हैं और आपको निर्दयता से पीटते हैं. आपकी प्रतिक्रिया क्या होगी?

    मेवाणी ने आगे लिखा, "18 मार्च को मेहसाणा के घिनोज गांव में इसी तरह की घटना घटी. 12वीं के एक छात्र को दो लोगों ने पेड़ से बांध लिया. जाति के नाम पर गाली देने के अलावा उसे दो घंटे तक निर्दयता से पीटा गया. उसे परीक्षा नहीं देने दी गई और तब तक पीटा गया जब तक कि वह बेहोश नहीं हो गया.”

    मेवाणी 20 मार्च को अपने सहयोगियों के साथ पीड़ित को देखने सिविल अस्पताल पहुंचे थे.

    ये भी पढ़ें: ‘मेरा सपना है कि बीएसपी प्रमुख मायावती प्रधानमंत्री बनें’

    मेवाणी ने दावा किया कि युवक की पिटाई इसलिए की गई, क्योंकि उसकी कक्षा 11वीं की एक लड़की से दोस्ती थी, जो पिटाई करने वाले दोनों लोगों के परिवार से है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अगर इस केस में किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई तो 14 अप्रैल को गुजरात में किसी भी बीजेपी नेता को बाबा साहेब की मूर्ति नहीं छूने देंगे.

    सूत्रों के मुताबिक, इस घटना के बाद पीड़ित छात्र ने परीक्षा नहीं दी. उसने घटनास्थल से टैक्सी ली और अपने घर आ गया. उसने घर पर इस बारे में किसी को कुछ नहीं बताया, गुरुवार को जब वह स्नान कर रहा था तब उसकी मां ने उसके शरीर पर चोट के निशान देखे और पूरी घटना के बारे में जानकारी ली. पुलिस ने आईपीसी की धारा  323, 341, 504, 506 (2) और 114 के तहत मामला दर्ज किया है.

    ये भी पढ़ें: क्या कांशीराम और मायावती की दलित राजनीति में अंतर है?

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    Tags: Central Gujarat Lok Sabha Elections 2019, Dalit, Gujarat, Jignesh mewani, Lok sabha elections 2019

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर