चिन्मयानंद केस: राजस्थान में मिली आरोप लगाने वाली लड़की, जानिए अब तक क्या-क्या हुआ?

स्वामी चिन्मयानंद (Swami Chinmayananda Controversy) पर शारीरिक शोषण का आरोप लगाने वाली कानून की छात्रा राजस्थान (Rajasthan) में मिली है.

News18Hindi
Updated: August 30, 2019, 8:22 PM IST
चिन्मयानंद केस: राजस्थान में मिली आरोप लगाने वाली लड़की, जानिए अब तक क्या-क्या हुआ?
स्वामी चिन्मयानंद पर शारीरिक शोषण का आरोप लगाने वाली कानून की छात्रा राजस्थान से बरामद हुई है.
News18Hindi
Updated: August 30, 2019, 8:22 PM IST
पूर्व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री और भारतीय जनता पार्टी (BJP) से तीन बार लोकसभा सांसद रहे स्वामी चिन्मयानंद (Swami Chinmayananda) पर शारीरिक शोषण का आरोप लगाने वाली कानून की छात्रा राजस्थान (Rajasthan) में मिली है. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) स्थित शाहजहांपुर निवासी छात्रा बीते कई दिनों से लापता थी. स्वामी चिन्मयानंद के ही कॉलेज से ही कानून की पढ़ाई कर रही छात्रा को राजस्थान से उसके दोस्त संजय सिंह के साथ पाया गया.

राजस्थान में पुलिस ने जब छात्रा मिली तो उस वक्त उसके साथ संजय भी था. छात्रा को फिलहाल राजस्थान से सुप्रीम कोर्ट में पेश करने के लिए लाया जा रहा है. छात्रा के परिवार का दावा है कि उसका अपहरण कर लिया गया. दूसरी ओर यूपी पुलिस का दावा है कि छात्रा लापता नहीं थी. आइए जानते हैं कि अब तक इस पूरे घटनाक्रम में क्या हुआ और पूरा मामला क्या है-

23 अगस्त को सामने आया मामला
एसएस कॉलेज की एलएलएम की छात्रा ने सोशल मीडिया पर बीते शुक्रवार को एक वीडियो जारी कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से न्याय की गुहार लगाई थी. इस वीडियो में पीड़िता ने स्वामी चिन्मयानंद पर गंभीर आरोप लगाया था. वीडियो में उसने कहा, 'संत समाज के एक बहुत बड़े नेता ने मेरे परिवार को जान से मारने की धमकी दी है. वो कहता है कि वो पुलिस, डीएम को जेब में रखता है. मेरे पास उस संन्यासी के खिलाफ साक्ष्य (सबूत) हैं. उसने कई लड़कियों की जिंदगी बर्बाद कर दी है.'

छात्रा का यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ. छात्रा के पिता ने स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ पुलिस में तहरीर देते हुए लड़कियों से शारीरिक शोषण, रेप और जान से मारने की धमकी जैसे संगीन आरोप लगाए थे. पीड़िता की मां ने बताया कि अंतिम बार वो रक्षाबंधन पर घर आई थी. मैंने उससे पूछा था कि उसका फोन क्यों अक्सर स्विच ऑफ रहता है. इस पर उसने कहा था कि अगर मेरा फोन लंबे समय के लिए स्विच ऑफ रहे तो समझ लेना कि मैं मुश्किल में हूं. मेरा फोन तभी स्विच ऑफ रहता है जब वो मेरे हाथ में नहीं होता. मेरी बेटी काफी परेशान और पीड़ा में थी, लेकिन उसने ज्यादा कुछ नहीं बताया. उसने बताया था कि कॉलेज प्रशासन की तरफ से उसे नैनीताल भेजा गया था.

लड़की के पिता ने कहा कि हम कई दिन से उससे संपर्क करने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन उसका कुछ पता नहीं चल रहा है. उन्होंने कहा, 'मेरी बेटी ने खुद तो मुझे कुछ भी नहीं बताया, लेकिन जब वो रक्षाबंधन पर घर आई तो परेशान थी. वो पिछले चार दिन से गायब है. मैंने कॉलेज के निदेशक स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ लिखित में तहरीर दी है, लेकिन अभी तक कोई एक्शन नहीं लिया गया है.'

छात्रावास से हुई गायब
Loading...

24 अगस्त को दिल्ली के एक अनजान मोबाइल नंबर से उनकी बेटी का फोन आया. जिसमें उसने बताया कि वह ठीक है. उसके बाद उसने कॉल काट दी. लड़की के पिता भी वीडियो वायरल होने के बाद हॉस्टल पहुंचे जहां उन्होंने देखा कि कमरे में ताला लगा है. इसके बाद लड़की की मां ने चिन्मयानंद से बात की तो उन्हें जवाब में कहा गया कि वह हरिद्वार में हैं और सोमवार को पता लगाएंगे.

उसके बाद उनका नंबर बंद हो गया. पुलिस ने अपनी जांच में पाया कि छात्रा का आखिरी लोकेशन दिल्ली था. जिसके आधार पर पूरी जांच आगे बढ़ाई गई. छात्रा, छात्रावास में कमरा नंबर 105 में रहती थी, जिसे सील कर दिया गया ताकि सुबूतों के साथ छेड़छाड़ न की जा सके. साथ ही किसी भी बाहरी व्यक्ति के छात्रावास में प्रवेश पर रोक लगा दी गई है.

चिन्मयानंद ने क्‍या कहा?
सवालों के घेरे में आए पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद ने इस पूरे प्रकरण पर कहा है कि उनके खिलाफ साजिश रची जा रही है. उन्होंने एक सीसीटीवी फुटेज के आधार पर कहा कि लड़की किसी लड़के के साथ है. इससे पहले बरेली जोन के अपर पुलिस महानिदेशक अविनाश चंद्र ने बताया था कि अंतिम बार पीड़िता का लोकेशन दिल्ली के द्वारका के एक होटल में 23 अगस्त को ट्रैक हुआ था. लेकिन पुलिस की टीम के वहां पहुंचने से पहले लड़की वहां से जा चुकी थी. सीसीटीवी फुटेज में लड़की के साथ एक लड़का भी दिखाई दिया है.

सुप्रीम कोर्ट पहुंचा मामला
वकीलों की ओर से इस मामले में याचिका दाखिल की गई जिस पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई की. शुक्रवार को जब लड़की के मिलने की खबर आई तब सुप्रीम कोर्ट ने यूपी पुलिस को लड़की को कोर्ट में पेश करने का आदेश दिया. सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया है कि पहले लड़की सुप्रीम कोर्ट लाई जाएगी, इसके बाद खुद जस्टिस भानुमति उससे चैंबर में मुलाकात करेंगी. कोर्ट ने कहा कि लड़की से पूरी बातचीत की जाएगी, उसके आरोपों को सुप्रीम कोर्ट सुनेगा, इसके बाद मामले में सुप्रीम कोर्ट अपना आदेश देगा.

कौन हैं चिन्मयानंद?
चिन्मयानंद, प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री थे. इससे पहले भी एक लड़की ने स्वामी चिन्मयानंद पर किडनैपिंग और रेप का मामला दर्ज करवाया था. स्वामी चिन्मयानंद पर 2011 में उनके आश्रम में रहने वाली एक लड़की ने रेप का आरोप लगाया था. 30 नवंबर 2011 को शाहजहांपुर की कोतवाली में स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 30, 2019, 7:45 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...