अपना शहर चुनें

States

चौथी बार स्वामी नहीं पहुंचे कोर्ट, फिर लटकी आसाराम की बेल

भाजपा के वरिष्ठ नेता सुब्रमण्यम स्वामी आसाराम की जमानत याचिका पर सुनवाई के लिए आश्वासन के बावजूद अदालत में लगातार चौथी बार पेश नहीं हुए।
भाजपा के वरिष्ठ नेता सुब्रमण्यम स्वामी आसाराम की जमानत याचिका पर सुनवाई के लिए आश्वासन के बावजूद अदालत में लगातार चौथी बार पेश नहीं हुए।

भाजपा के वरिष्ठ नेता सुब्रमण्यम स्वामी आसाराम की जमानत याचिका पर सुनवाई के लिए आश्वासन के बावजूद अदालत में लगातार चौथी बार पेश नहीं हुए।

  • Share this:
जोधपुर। भाजपा के वरिष्ठ नेता सुब्रमण्यम स्वामी आसाराम की जमानत याचिका पर सुनवाई के लिए आश्वासन के बावजूद अदालत में लगातार चौथी बार पेश नहीं हुए। अब आसाराम के वर्तमान वकील ही उनका पक्ष रखेंगे और अदालत ने इस मामले में सुनवाई के लिए कल की तारीख तय की है।

अभियोजन पक्ष के वकील पीसी सोलंकी ने कहा कि अदालत ने अब जमानत याचिका पर दलीलों के लिए बुधवार का दिन तय किया है। ऐसे में स्वामी के अदालत में आने में नाकाम रहने पर आसाराम के वर्तमान वकील ही जमानत याचिका पर दलीलें देंगे।

इससे पहले, अदालत में आसाराम के वकील ने हलफनामा दायर करके उनकी जमानत के लिए स्वामी के वकील के रूप में पेश होने की अनुमति मांगी।



बचाव पक्ष के वकील निशांत बोडा ने कहा कि यह हलफनामा अधिवक्ता अधिनियम की धारा 32 के तहत दायर किया गया जो कहता है कि कोई अदालत, प्राधिकरण या व्यक्ति इस कानून के तहत अधिवक्ता के रूप में नामांकित नहीं हुए किसी भी व्यक्ति को किसी विशेष मामले में उसके सामने पेश होने के लिए अनुमति दे सकता है।
आवेदन स्वीकारते हुए अदालत ने जमानत याचिका पर बहस हेतु पहले 26 मई के लिए यह मामला सूचीबद्ध किया था। लेकिन स्वामी न तो 26 मई को पेश हुए और ना ही इसके बाद की तारीखों दो जून, नौ जून और आज हाजिर हुए।
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज