स्वामी की पीएम को सलाह- जयंत सिन्हा को हटाएं और 2019 तक टाल दें एयर इंडिया की बिक्री

सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि एयर इंडिया बिक्री मामले पर आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत की चेतावनी का वे स्वागत करते हैं.


Updated: April 17, 2018, 2:45 PM IST
स्वामी की पीएम को सलाह- जयंत सिन्हा को हटाएं और 2019 तक टाल दें एयर इंडिया की बिक्री
बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी (फाइल फोटो)

Updated: April 17, 2018, 2:45 PM IST
सीनियर बीजेपी लीडर सुब्रमण्यम स्वामी ने एयर इंडिया की बिक्री को अगले साल तक टालने की सलाह दी है. उन्होंने ट्वीट करके नागरिक उड्डयन मंत्री जयंत सिन्हा को हटाने की मांग भी रखी. बता दें कि इससे पहले सोमवार को आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने कहा था कि एयर इंडिया का कंट्रोल और मैनेजमेंट किसी भारतीय कंपनी के हाथ में ही रहना चाहिए. भागवत ने सरकार को चेताया कि उसे अपने आसमान का नियंत्रण और स्वामित्व नहीं गंवाना चाहिए.

सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा, "एयर इंडिया बिक्री मामले पर आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत की चेतावनी का मैं स्वागत करता हूं. पीएम को मेरी सलाह है कि 2019 चुनावों के बाद इसपर विचार करें. इसके अलावा जयंत सिन्हा को भी हटा दें."



एयर इंडिया का विनिवेश हो, पर मालिक भारतीय कंपनी ही बने: भागवत
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने सोमवार को कहा कि एयर इंडिया का विनिवेश हो, लेकिन इसका स्वामित्व उसी भारतीय कंपनी को दिया जाए जो सही तरीके से इसे चलाने में सक्षम है. गौरतलब है कि सरकार ने कर्ज के बोझ से दबी राष्ट्रीय एयरलाइन की बिक्री की प्रक्रिया शुरू की है.

भागवत ने सरकार को चेताया कि उसे अपने आकाश का नियंत्रण और स्वामित्व नहीं गंवाना चाहिए. उन्होंने कहा कि एयर इंडिया के परिचालन का ठीक से प्रबंधन नहीं किया गया.

भागवत ने कहा कि दुनिया में कहीं भी राष्ट्रीय एयरलाइन में 49 प्रतिशत से अधिक विदेशी निवेश की अनुमति नहीं है. उन्होंने विशेष रूप से जर्मनी का जिक्र किया, जहां विदेशी हिस्सेदारी की सीमा सिर्फ 29 प्रतिशत है.

उन्होंने कहा कि यदि विदेशी हिस्सेदारी की सीमा 49 प्रतिशत को पार कर जाती है तो शेयरों को जब्त कर उन्हें घरेलू निवेशकों को बेचा जाना चाहिए, जैसा अन्य देशों में किया जाता है.

(भाषा इनपुट के साथ)
IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. Nation News in Hindi यहां देखें.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर