• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • पंजाब में चुनाव से पहले सीटों की अदला-बदली, शिअद-बसपा में हुआ दो सीटों पर समझौता

पंजाब में चुनाव से पहले सीटों की अदला-बदली, शिअद-बसपा में हुआ दो सीटों पर समझौता

अमृतसर उत्तर और सुजानपुर सीटें, गठबंधन के दोनों सहयोगी दलों के बीच सीट बंटवारे के तौर पर बसपा को दी गयी 20 सीटों में शामिल थीं. (फोटो: News18 English)

अमृतसर उत्तर और सुजानपुर सीटें, गठबंधन के दोनों सहयोगी दलों के बीच सीट बंटवारे के तौर पर बसपा को दी गयी 20 सीटों में शामिल थीं. (फोटो: News18 English)

Punjab Assembly Election 2022: शिअद ने पिछले महीने अमृतसर उत्तर तथा सुजानपुर निर्वाचन क्षेत्रों से दो उम्मीदवारों की घोषणा की. उस समय बादल ने कहा था कि बसपा (BSP) की सहमति से यह फैसला लिया गया है.

  • Share this:

    चंडीगढ़. शिरोमणि अकाली दल (SAD) ने अगले साल पंजाब विधानसभा चुनावों के लिए अपने गठबंधन सहयोगी दल बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के साथ दो सीटों की अदला-बदली करने का बुधवार को फैसला किया. शिअद प्रमुख सुखबीर सिंह बादल (Sukhbir Singh Badal) ने कहा कि उनकी पार्टी ने दो विधानसभा सीटें शाम चौरासी और कपूरथला बहुजन समाज पार्टी (बसपा) को देने का फैसला किया है और उससे अमृतसर (Amritsar) उत्तर तथा सुजानपुर विधानसभा सीटें वापस ली हैं.

    शिअद ने पिछले महीने अमृतसर उत्तर तथा सुजानपुर निर्वाचन क्षेत्रों से दो उम्मीदवारों की घोषणा की. उस समय बादल ने कहा था कि बसपा की सहमति से यह फैसला लिया गया है. अमृतसर उत्तर और सुजानपुर सीटें, गठबंधन के दोनों सहयोगी दलों के बीच सीट बंटवारे के तौर पर बसपा को दी गयी 20 सीटों में शामिल थीं. शिअद के वरिष्ठ नेता दलजीत सिंह चीमा ने बुधवार को कहा, ‘शिअद अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने ऐलान किया कि दल ने बसपा से अमृतसर उत्तर और सुजानपुर सीटें वापस ली है. इसके स्थान पर बसपा को शाम चौरासी और कपूरथला विधानसभा सीटें दी गयीं.’

    आगामी विधानसभा चुनावों के लिए दोनों दलों के बीच गठबंधन के अनुसार, मायावती के अगुवायी वाली बसपा पंजाब में 117 विधानसभा सीटों में से 20 पर लड़ेगी जबकि बाकी सीटों पर शिअद चुनाव लड़ेगी. अनुमान लगाए जा रहे हैं कि चुनाव आयोग मार्च और अप्रैल के बीच 2022 विधानसभा चुनाव आयोजित करा सकता है. अगले साल पांच राज्यों में मतदान होना है.

    शिअद ने ‘गल पंजाब दी’ अभियान पर छह दिनों के लिए रोक लगाई
    शिरोमणि अकाली दल (शिअद) प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने शुक्रवार को अपनी पार्टी के चुनाव प्रचार अभियान ‘गल पंजाब दी’ पर छह दिनों के लिए रोक लगा दी थी. पार्टी ने केंद्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन के लिए अकालियों के ‘निरंतर समर्थन’ को दोहराते हुए किसानों के साथ बातचीत करने के वास्ते एक समिति का भी गठन किया था.

    बादल ने कहा कि पार्टी ‘किसानों के साथ किसी भी तरह का टकराव नहीं चाहती है.’ पंजाब के मोगा जिले में बृहस्पतिवार को शिरोमणि अकाली दल के एक कार्यक्रम में किसानों के एक समूह ने कथित तौर पर जबरन घुसने की कोशिश की. इस कार्यक्रम को बादल संबोधित कर रहे थे. पुलिस ने किसानों को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज किया और पानी की बौछारों का इस्तेमाल किया था.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज