Assembly Banner 2021

बगैर ID मतदान करने पहुंचे पूर्व चुनाव आयुक्त कुरैशी, संस्था ने नहीं दिया वोटिंग का मौका

कुरैशी की तरफ से पोस्ट किए गए रिट्वीट के मुताबिक, पूर्व चुनाव आयुक्त ने IIC स्मार्ट कार्ड के लिए पहले आवेदन किया था, लेकिन उन्हें इसकी रसीद नहीं मिली है.

कुरैशी की तरफ से पोस्ट किए गए रिट्वीट के मुताबिक, पूर्व चुनाव आयुक्त ने IIC स्मार्ट कार्ड के लिए पहले आवेदन किया था, लेकिन उन्हें इसकी रसीद नहीं मिली है.

एसवाई कुरैशी (SY Qureshi) को IIC की तरफ से जारी स्मार्ट कार्ड नहीं था. जिसकी वजह से उन्हें चुनाव में वोट नहीं डालने दिया गया. इसपर कुरैशी ने कहा है कि उन्होंने मतदान प्रक्रिया के लिए आधार कार्ड की पेशकश की थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 23, 2021, 8:48 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पूर्व चुनाव आयुक्त एसवाई कुरैशी को एक अजीब स्थिति का सामना करना पड़ा. बीते रविवार को सही पहचान पत्र नहीं होने के चलते उन्हें इंडिया इंटरनेशनल सेंटर (IIC) के चुनाव में उन्हें वोट नहीं डालने दिया गया. बताया जा रहा है कि कुरैशी के पास संस्था की तरफ से जारी स्मार्ट कार्ड (Smart ID Card) नहीं था. संस्था इस कार्ड को खास सदस्यों के लिए ही जारी करती है. रविवार को IIC ने एक ट्रस्टी और एग्जीक्यूटिव कमेटी के दो सदस्यों के लिए चुनाव आयोजित किया था.

एसवाई कुरैशी को IIC की तरफ से जारी स्मार्ट कार्ड नहीं था. जिसकी वजह से उन्हें चुनाव में वोट नहीं डालने दिया गया. इसपर कुरैशी ने कहा है कि उन्होंने मतदान प्रक्रिया के लिए आधार कार्ड की पेशकश की थी, लेकिन IIC चुनाव अधिकारी स्मार्ट आईडी कार्ड की ही बात कहते रहे. हालांकि, संस्था ने कुरैशी के आरोपों का खंडन किया है.

अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में संस्था के सचिव कंवल वली ने कहा 'कोरोना वायरस डर और कई सदस्यों के देश से बाहर होने की बात को ध्यान में रखते हुए सभी सदस्यों को वोट डालने के लिए दो विकल्प दिए गए थे. सदस्य इलेक्ट्रॉनिक माध्यम या फिजिकली वोट डाल सकते हैं.' उन्होंने कहा '10-14 मार्च के बीच जब इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग पूरी हो गई, तो जिन सदस्यों ने इलेक्ट्रॉनिक वोट नहीं डाला, तो उन्हें 21 मार्च को फिजिकली वोट डालने के लिए कहा था.'



यह भी पढ़ें: इस्लाम में परिवार नियोजन की मनाही नहीं, मुस्लिमों की आबादी बढ़ने का डर गलत- पूर्व चुनाव आयुक्त एसवाई कुरैशी
उन्होंने जानकारी दी 'यह मेल कुरैशी को भी भेजा गया था. जब वे वोट डालने पहुंचे, तो उनके पास न स्मार्ट कार्ड था और न स्वीकृ्त पुराना मेंबरशिप कार्ड था.' उन्होंने बताया 'रिटर्निंग अधिकारी ने उन्हें पुराना मेंबरशिप कार्ड लाने के लिए कहा और बताया कि वे इसके बगैर वोट नहीं डाल सकेंगे. इस मौके पर पूर्व चुनाव आयुक्त इस बात से समहत हो गए कि तय प्रक्रिया का पालन किया जाना चाहिए.'

कुरैशी की तरफ से पोस्ट किए गए रिट्वीट के मुताबिक, पूर्व चुनाव आयुक्त ने IIC स्मार्ट कार्ड के लिए पहले आवेदन किया था, लेकिन उन्हें इसकी रसीद नहीं मिली है. अखबार से बातचीत में कुरैशी ने कहा 'शायद पूरे देश में चुनाव कराने वाली EC के मुकाबले ICC ज्यादा मजबूत व्यवस्था को फॉलो करता है.' कुरैशी ने कहा है कि चुनाव आयोग भी 13 आईडी कार्ड की सूची रखता है, जिसका उपयोग मतदाता कर सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज