जम्मू-कश्मीर में बैन के बावजूद चल रहा था गिलानी का इंटरनेट! BSNL ने 2 अधिकारियों को किया सस्पेंड

News18Hindi
Updated: August 19, 2019, 4:06 PM IST
जम्मू-कश्मीर में बैन के बावजूद चल रहा था गिलानी का इंटरनेट! BSNL ने 2 अधिकारियों को किया सस्पेंड
जम्मू-कश्मीर में बैन के बावजूद गिलानी का चल रहा था इंटरनेट, जांच हुई तेज

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) से आर्टिकल 370 (Article 370) हटाए जाने के बाद से भारत सरकार ने किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए इंटरनेट (internet) और लैंडलाइन (landline) फोन सेवाओं पर रोक लगा दी थी. हालांकि मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार रोक के बावजूद अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी (Syed Geelani) के घर पर इंटरनेट चल रहा था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 19, 2019, 4:06 PM IST
  • Share this:
जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) में आर्टिकल 370 (Article 370) हटाए जाने के बाद घाटी में शांति-व्यवस्था बनाए रखने के लिए धारा 144 लगाई गई थी. इसी के साथ किसी अफवाह से बचने के लिए इंटरनेट (internet) और लैंडलाइन (landline) फोन सेवाओं को रोक दिया गया था. सरकार की इन तमाम कोशिशों के बावजूद एक बड़ी लापरवाही का पता चला है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, रोक के बावजूद अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी (Syed Geelani) के घर पर इंटरनेट चल रहा था. इस ट्वीट के सामने आने के बाद बीएसएनएल के दो अधिकारियों पर गाज गिरी है.

जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद से भारत सरकार ने किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए कई तरह के प्रतिबंध लगाए थे. इसी प्रतिबंध के तहत पूरी जम्मू-कश्मीर में इंटरनेट सेवाओं को रोक दिया गया था. इन सुविधाओं पर पिछले चार अगस्त से रोक लगा दी गई थी. हालांकि इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी के घर पर मौजूद लैंडलाइन और इंटरनेट सेवा 8 दिनों तक चालू थी. सूत्रों के मुताबिक अधिकारियों को इस बात की खबर ही नहीं थी कि गिलानी कश्मीर में इंटरनेट चलाते हैं और उन्होंने अपने अकाउंट से ही कुछ ट्वीट भी किए थे.

इसे भी पढ़ें :- जम्मू-कश्मीर में शिक्षक पहुंचे स्कूल, लेकिन छात्र रहे नदारद

मामला सामने आने के बाद इस बात की जांच शुरू कर दी गई है कि आखिर गिलानी इंटरनेट और लैंडलाइन सुविधा पाने में कैसे सक्षम हो गए. बीएसएनएल ने इस मामले में अब दो अधिकारियों पर एक्शन लिया है. मामला के पता चलने के बाद गिलानी की सर्विस बंद कर दी गई थी.

इसे भी पढ़ें :- कश्मीर को लेकर शेहला रशीद ने किया था विवादित पोस्ट, गिरफ्तारी की उठी मांग

अलगाववादी नेता सैयद अली गिलानी हमेशा से ही भारत विरोधी पोस्ट करते रहे हैं. गिलानी को लेकर लोगों में इस कदर गुस्सा देखा गया है कि कुछ लोगों ने तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह से गिलानी को पाकिस्तान भेजने तक की मांग कर दी है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 19, 2019, 3:33 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...