होम /न्यूज /राष्ट्र /'असली शरिया' पर अमल करे तालिबान, दुनिया के लिए बन जाएगा मिसाल- महबूबा मुफ्ती

'असली शरिया' पर अमल करे तालिबान, दुनिया के लिए बन जाएगा मिसाल- महबूबा मुफ्ती

महबूबा मुफ्ती ने कहा है कि तालिबान को पहले वाला रूप बदलना होगा. (फाइल फोटो)

महबूबा मुफ्ती ने कहा है कि तालिबान को पहले वाला रूप बदलना होगा. (फाइल फोटो)

महबूबा मुफ्ती ने कहा है कि तालिबान को पहले वाली इमेज से अलग हटकर काम करना चाहिए. असली शरिया कानून लागू करना चाहिए जो कु ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

    नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) ने अफगानिस्तान में तालिबानी सरकार पर बयान दिया है. उन्होंने कहा, ‘मैं ये समझती हूं कि तालिबान अब एक हकीकत बनकर सामने आ रहा है. उनकी पहले जो इमेज बनी थी वो इंसानियत के खिलाफ थी. अब वो आए हैं और हुकूमत करना चाहते हैं तो उन्हें असली शरिया लागू करना होगा जो कुरान में दर्ज है. जिसमें औरतों को हक दिए गए हैं. बच्चों के अधिकार हैं. अगर तालिबान इस पर अमल करता है तो दुनिया के लिए मिसाल बन सकता है.’

    दरअसल तालिबान ने अफगानिस्तान में अपनी नई केयरटेकर सरकार की घोषणा कर दी है. संगठन के मुताबिक नई सरकार के काउंसिल के हेड मोहम्मद हसन अखुंद होंगे. अखुंद देश के प्रधानमंत्री होंगे. इसके अलावा अब्दुल गनी बरादर देश के नए डिप्टी प्रधानमंत्री होंगे. सिराजुद्दीन हक्कानी को गृह मंत्री बनाया गया है. मुल्ला याकूब रक्षा मंत्री बनाए गए हैं. अल्हाज मुल्ला फजल को नया मिलिट्री चीफ बनाया गया है. तालिबान प्रवक्ता जैबीहुल्लाह मुजाहिद ने साफ किया है कि ये तालिबान की अंतरिम सरकार है यानी ये सरकार सिर्फ 6 महीने के लिए बनाई गई है.

    काबुल पर कब्जे के 22 दिन बाद सरकार की घोषणा
    दरअसल तालिबान ने बीते 15 अगस्त को काबुल पर कब्जा किया था. इसके बाद से सरकार को लेकर विचार विमर्श जारी था. संगठन के प्रवक्ता सुहैल शाहीन ने न्यूज़18 से बातचीत में कहा था कि हम सरकार में सभी का सहयोग चाहते हैं, इसीलिए देर हो रही है. बीते कुछ दिनों से माना जा रहा था अब संगठन कभी भी नई सरकार की घोषणा कर सकता है.

    अखुंद को क्यों चुना गया
    ‘द न्यूज’ की रिपोर्ट के अनुसार, हिबतुल्ला अखुंजादा ने खुद मुल्ला मोहम्मद हसन अखुंद को रईस-ए-जम्हूर, रईस-उल-वजारा या अफगानिस्तान के नए प्रमुख के रूप में प्रस्तावित किया है. कई तालिबानी नेताओं से बात करने के दौरान सभी ने मुल्ला मोहम्मद हसन अखुंद के नाम पर सहमति बनाए जाने का दावा किया है.

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें