Home /News /nation /

तालिबान को पाक आतंकियों का समर्थन, काबुल में बना रहेगा हमारा दूतावास: भारत

तालिबान को पाक आतंकियों का समर्थन, काबुल में बना रहेगा हमारा दूतावास: भारत

तालिबान लगातार अफगानिस्तान के इलाकों पर कब्जा करता जा रहा है. (AP)

तालिबान लगातार अफगानिस्तान के इलाकों पर कब्जा करता जा रहा है. (AP)

मंत्रालय (MEA) ने कहा है-दुनिया को पता है तालिबान (Taliban) को पाकिस्तान के जिहादियों और आतंकवादियों का समर्थन मिल रहा है. दुनिया इससे वाकिफ है और ये बताने की जरूरत नहीं. काबुल में भारत का दूतावास बंद नहीं हो रहा है. इस तरह की रिपोर्ट काल्पनिक हैं.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. विदेश मंत्रालय (MEA) ने अफगानिस्तान में हो रही हिंसा (Asghanistan Violence) के पीछे पाकिस्तान (Pakistan) से मिल रहे समर्थन को जिम्मेदार ठहराया है. मंत्रालय ने कहा है-दुनिया को पता है तालिबान (Taliban) को पाकिस्तान के जिहादियों और आतंकवादियों का समर्थन मिल रहा है. दुनिया इससे वाकिफ है और ये बताने की जरूरत नहीं.

    मंत्रालय ने काबुल में दूतावास को लेकर भी स्थिति स्पष्ट कर दी है. मंत्रालय की तरफ से जानकारी दी गई है- हम स्थिति की बारीकी से निगरानी कर रहे हैं. हम बिगड़ती सुरक्षा स्थिति को लेकर चिंतित हैं. काबुल में हमारे मिशन ने इस सप्ताह की शुरुआत में भारतीय नागरिकों के लिए एडवाइजरी जारी की, जिसमें उन्हें कमर्शियल फ्लाइट्स से भारत लौटने की सलाह दी गई है. काबुल में भारत का दूतावास बंद नहीं हो रहा है. इस तरह की रिपोर्ट काल्पनिक हैं.

    हम सभी स्टेकहोल्डर्स के साथ संपर्क में हैं
    तालिबान से बातचीत के सवाल पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा-हम सभी स्टेकहोल्डर्स के साथ संपर्क में है. इस बारे में हम और जानकारी नहीं दे सकते. स्थितियां हर पल बदल रही हैं. ये चिंता का विषय है. हम चाहते हैं कि जितना जल्दी हो सके, सीजफायर हो. हम अफगानिस्तान में शांति के लिए सभी प्रयास कर रहे हैं. पहली प्राथमिकता यही है कि अफगानिस्तान में शांति स्थापित हो.

    ‘हमारे मिशन ने 383 हिंदू और सिख लोगों को अफगानिस्तान से भारत लाने में मदद की थी’
    उन्होंने कहा- बीते साल अफगानिस्तान में हमारे मिशन ने 383 हिंदू और सिख लोगों को अफगानिस्तान से भारत लाने में मदद की थी. हमारा मिशन वहां के हिंदू और अफगान समुदाय के साथ संपर्क में है. हम उन्हें सभी तरह की मदद मुहैया कराएंगे.

    इससे पहले खबर आई थी कि अफगानिस्तान की मौजूदा स्थिति को लेकर कतर की राजधानी दोहा में चर्चा की जाएगी. इस चर्चा में भारत भी शामिल होगा. भारत ही इस बैठक को लीड कर रहा है. इस बैठक में अफगानिस्तान में बढ़ती हिंसा को थामने और शांति प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के तौर-तरीकों पर चर्चा की जाएगी.

    Tags: Afghanistan, MEA, Pakistan, Taliban

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर