तमिलनाडु में बनाए गए 47,200 वैक्‍सीन सेंटर, पहले 1.60 करोड़ लोगों को लगेगा टीका

तमिलनाडु में पहले चरण में 1.60 करोड़ लोगों को टीका लगाया जाएगा: मंत्री (Pic- AP)

तमिलनाडु में पहले चरण में 1.60 करोड़ लोगों को टीका लगाया जाएगा: मंत्री (Pic- AP)

Covid-19 Vaccination Dry Run: स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री डॉ विजयभास्कर ने कहा कि टीकाकरण के वास्ते कुल 47,200 केंद्र स्थापित किए गए हैं और इस उद्देश्‍य के लिए 21,200 स्वास्थ्यकर्मियों को प्रशिक्षित किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 2, 2021, 7:53 PM IST
  • Share this:

कोयंबटूर. तमिलनाडु में पहले चरण के दौरान 1.60 करोड़ लोगों को कोविड-19 का टीका लगाए जाने को लेकर राज्य सरकार ने आवश्यक कदम उठाए हैं. स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री डॉ विजयभास्कर ने शनिवार को यह जानकारी दी. ईएसआई अस्पताल में टीकाकरण के पूर्वाभ्यास के लिए लगाए गए विशेष शिविर के दौरान पहुंचे विजयभास्कर ने संवाददाताओं से कहा कि टीकाकरण के संबंध में आने वाली दिक्कतों और चुनौतियों का पता लगाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि टीकाकरण के वास्ते कुल 47,200 केंद्र स्थापित किए गए हैं और इस उद्देश्‍य के लिए 21,200 स्वास्थ्यकर्मियों को प्रशिक्षित किया गया है.

मंत्री ने कहा कि इस पूर्वाभ्यास के लिए पांच जिलों में कम से कम 17 स्थानों को चिन्हित किया गया है, जिसके लिए 425 स्वास्थ्यकर्मियों को प्रशिक्षित किया गया है. उन्होंने बताया कि टीका लगवाने वाले व्यक्ति को करीब 30 मिनट तक इंतजार करने को कहा जा रहा है ताकि उनकी स्वास्थ्य निगरानी की जा सके. स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि टीकाकरण के पहले चरण में 2,881 सरकारी एवं 35,403 निजी अस्पतालों के डॉक्टरों एवं नर्सों समेत करीब छह लाख स्वास्थ्यकर्मियों को टीका लगाया जाएगा.

कोविड-19 टीकाकरण पूर्वाभ्यास सीखने वाला अनुभव रहा: तमिलनाडु सरकार

तमिलनाडु में शनिवार को 17 केंद्रों पर सफलतापूर्वक कोविड-19 टीकाकरण का पूर्वाभ्यास किया गया और यह सीखने वाला अनुभव रहा. एक शीर्ष अधिकारी ने शनिवार को यह जानकारी दी. तमिलनाडु के स्वास्थ्य सचिव जे राधाकृष्णन ने कहा कि कुल मिलाकर पूरी प्रक्रिया सफलतापूर्वक संपन्न हुई. यह पूर्वाभ्यास चेन्नई, तिरुवल्लूर, नीलगिरी, तिरुनेलवेली और कोयंबटूर के पांच जिलों में तीन-तीन केंद्रों पर आयोजित किया गया.
सचिव ने संवाददाताओं से कहा, 'हमें यह सीखने को मिला कि टीकाकरण के लिए निर्धारित कक्ष बहुत बड़ा होना चाहिए.' विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) और यूनिसेफ के अधिकारियों ने भी इस अभियान को देखा. आरंभिक जानकारी का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि लगभग 2000 कर्मियों और 510 प्रतिभागियों को शामिल करते हुए इस पूर्वाभ्यास के परिणाम संतोषजनक रहे. अब इन परिणामों के आधार पर राज्य में टीकाकरण की प्रस्तावित योजना की तैयारी करनी होगी.

जे राधाकृष्णन ने कहा कि टीकाकरण के लिए छह लाख स्वास्थ्य कर्मियों ने पहले ही पंजीकरण करा लिया है और अन्य आवश्यक सेवाओं के कर्मचारी अपना पंजीकरण कराने के लिए तैयार हैं जिसके बाद बुजुर्गों और अन्य बीमारियों वाले लोगों का पंजीकरण किया जाएगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज