तमिलनाडु: एमके स्टालिन की कैबिनेट में होंगे 'गांधी-नेहरू', 34 नामों की लिस्ट जारी

डीएमके के अध्यक्ष एम. के. स्टालिन (फ़ाइल फोटो)

डीएमके के अध्यक्ष एम. के. स्टालिन (फ़ाइल फोटो)

Tamil Nadu Cabinet List: लिस्ट के मुताबिक डीएमके के विधायक एम. ए. सुब्रमण्यम को स्वास्थ्य मंत्रालय, जबकि दुरईमुरुगन को जल मंत्रालय आवंटित किया गया है.

  • Share this:

चेन्नई. तमिलनाडु के नामित मुख्यमंत्री एम.के. स्टालिन ने गुरुवार को एक लिस्ट जारी की है, जिसमें पोर्टफोलियो के साथ राज्य कैबिनेट में शामिल होने वाले 34 मंत्रियों के नाम हैं. इस लिस्ट को राज्यपाल ने भी अपनी मंजूरी दे दी है. लिस्ट के मुताबिक डीएमके के विधायक एम.ए. सुब्रमण्यम को स्वास्थ्य मंत्रालय, जबकि दुराईमुरुगन को जल मंत्रालय आवंटित किया गया है. स्टालिन ने जिन 34 विधायकों की सूची जारी की है उसमें एक बड़ा रोचक संयोग भी है. दरअसल, तमिलनाडु में एमके स्टालिन मुख्यमंत्री होंगे और उनके कैबिनेट में 'नेहरू और गांधी' भी शामिल होंगे.


दरअसल, केएन नेहरू को नगरपालिका प्रशासन मंत्री होंगे. वहीं आर गांधी को हस्तशिल्प और कपड़ा मंत्री बनाया गया है. एक दिन पहले पांच मई को ही तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित ने द्रमुक अध्यक्ष एमके स्टालिन को राज्य का मुख्यमंत्री नियुक्त किया और सरकार बनाने का न्योता दिया. राजभवन द्वारा बुधवार को दी गई जानकारी के मुताबिक विधायक दल का नेता चुने जाने का पत्र सौंपने के बाद राज्यपाल ने उन्हें यह जिम्मेदारी दी. शपथ ग्रहण राजभवन परिसर में सात मई को सुबह नौ बजे होगा.


MK Stalin
केएन नेहरू होंगे स्टालिन की सरकार में मंत्री

पार्टी के वरिष्ठ नेताओं और महासचिव दुराईमुरुगन के साथ स्टालिन ने पुरोहित से मुलाकात की और उन्हें द्रमुक विधायक दल का नेता निर्वाचित किए जाने के संबंध में एक पत्र दिया तथा सरकार बनाने का दावा पेश किया. राजभवन के आधिकारिक बयान में कहा गया कि स्टालिन ने राजभवन आकर पुरोहित को वह पत्र सौंपा जिसमें उन्हें द्रविड मुनेत्र कड़गम विधायक दल का नेता चुनने की जानकारी दी गई थी.


आर गांधी भी होंगे कैबिनेट मंत्री

उल्लेखनीय है कि द्रमुक की पिछली सरकार (वर्ष 2006-11) में स्टालिन उप मुख्यमंत्री थे और उनके पिता एम करुणानिधि मुख्यमंत्री थे. इस प्रकार स्टालिन पहली बार राज्य के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. द्रमुक ने विधानसभा चुनावों में 133 सीटें जीती और कांग्रेस समेत उसके अन्य सहयोगियों ने 234 सदस्यीय विधानसभा में कुल 159 सीटें जीती हैं. अन्नाद्रमुक ने 66 सीटों पर जीत हासिल की है, जबकि उसकी सहयोगी भाजपा और पीएमके ने क्रमश: चार और पांच सीटें जीती हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज