Tamil Nadu Election Result 2021: संकट के समय में सरकार बनाने जा रहे हैं स्टालिन, क्या पूरे कर पाएंगे वादे?

डीएमके के अधयक्ष एम. के. स्टालिन (फ़ाइल फोटो)

डीएमके के अधयक्ष एम. के. स्टालिन (फ़ाइल फोटो)

Tamil Nadu Election Result 2021: तमिलनाडु विधानसभा चुनाव के रुझान के अनुसार एमके स्टालिन (MK Stalin) की अगुवाई वाली डीएमके और कांग्रेस गठबंधन (DMK Congress), सरकार बना सकती है.

  • Share this:
पूर्णिमा मुरली

चेन्नई. 
तमिलनाडु विधानसभा चुनाव (Tamil Nadu Election Result 2021) के रुझान के अनुसार एमके स्टालिन (MK Stalin) की अगुवाई वाली डीएमके और कांग्रेस गठबंधन (DMK Congress), सरकार बना सकती है. इस बीच राज्य में स्टालिन के राजनीति के तरीकों की चर्चा हो रही है. करुणानिधि से पार्टी की कमान मिलने और अगस्त 2018 के बाद स्टालिन ने अपनी एक पहचान बनाए रखी. कई मुसीबतों के बाद भी वह पूरी तरह शांत रहे. अपने पीछे करीब 1 दशक की राजनीति विरासत के चलते भी शायद स्टालिन ने यह गुण सीखा. स्टालिन जिस मुद्दे को अनदेखा करने की क्षमता रखते हैं, वह उस पर नहीं बोलते. वह अक्सर शांत रहते हैं.

तमिलनाडु की राजनीतिक और अपनी व्यक्तिगत यात्रा में स्टालि ने आज जहां तक का सफर तय किया है, शायद यह उसी गुण की वजह से है. भविष्य की राजनीति में भी उन्हें यह गुण बनाए रखना होगा ताकि वह सत्ता के भ्रामक रास्तों पर भी आसानी से चल सकें.

Youtube Video

साल 1996 में बने थे चेन्नई के मेयर

साल 1996 में डीएमके द्वारा जे जयललिता के  कार्यकाल के बाद चुनावों को रद्द कर दिया गया था. दोबारा हुए चुनावों में स्टालिन अक्टूबर 1996 में चेन्नई के मेयर बने.  इसके बाद वह साल 2006 में फिर से मेयर बने और बाद में मंत्रिमंडल में पहुंचे.  साल 2006  से 2011 के बीच मंत्री रहे. इस कार्यकाल के आखिरी दो सालों के दौरान वह उप मुख्यमंत्री थे.

स्टालिन ने खुद की छवि को करुणानिधि के बेटे से अलग द्रविड़ नेता के रूप में बदलने की कोशिश की.  डिजिटल कैंपेन  बनाने से लेकर बेहतर रणनीतिकारों की टीम बनाने तक स्टालिन ने कोई कसर नहीं छोड़ी. जयललिता और करुणानिधि की मृत्यु के बाद, स्टालिन आखिरकार अपने दम पर पर आ गए. वे इन नेताओं की छाया से निकल गए. उनके नेतृत्व में, DMK ने 2019 के संसदीय चुनावों में जीत हासिल की. राजनीतिक जानकारों  ने कहा कि स्टालिन 'आ गए.'





स्टालिन ऐसे समय में सत्ता संभालने जा रहे हैं जब तमिलनाडु कोरोना वायरस से बुरी तरह से प्रभावित है और दिल्ली में बैठी केंद्र सरकार उनकी अग्नि परीक्षा भी ले सकती है. साथ ही उन पर अपने घोषणा पत्र को लागू करने का दबाव भी होगा. ऐसे में यह सवाल उठना लाजमी है कि क्या स्टालिन अपना वादा पूरा कर पाएंगे.

यह खबर मूलतः अंग्रेजी में है. इसे पूरा पढ़ने के लिए लिंक पर क्लिक करें- MK Stalin's Silence Does All The Talking As DMK Leader Ascends To Newer Heights In Tamil Nadu Politics
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज