तमिलनाडु सरकार की सिफारिशः रिहा किये जाएं राजीव गांधी की हत्या के 7 दोषी

वहीं पूर्व पीएम के बेटे और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी दोषियों की रिहाई पर कोई आपत्ति दर्ज नहीं की है. वह कई बार कह चुके हैं कि वह इस मामले से आगे बढ़ना चाहते हैं और माफी ही सही रास्‍ता है.

News18Hindi
Updated: September 9, 2018, 9:03 PM IST
तमिलनाडु सरकार की सिफारिशः रिहा किये जाएं राजीव गांधी की हत्या के 7 दोषी
राजीव गांधी की 1991 में हत्या कर दी गई थी
News18Hindi
Updated: September 9, 2018, 9:03 PM IST
तमिलनाडु सरकार ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या के सात दोषियों को रिहा करने की सिफारिश की है. मंत्री डी जयकुमार ने रविवार को जानकारी दी कि यह सिफारिश राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित तो भेजी जाएगी. इस मामले में उम्रकैद की सजा काट रही नलिनी श्रीहरन ने राज्य के गृह सचिव के पास जल्द रिहाई के लिए याचिका लगाई थी.

हाल ही में उच्चतम न्यायालय ने तमिलनाडु के राज्यपाल से 1991 के इस मामले के एक अन्य दोषी ए जी पेरारिवलन की दया याचिका पर विचार करने को कहा है.

कई मामलों में पिता राजीव गांधी से अलग हैं राहुल

यहां महिलाओं के विशेष कारागार में उम्रकैद की सजा काट रही नलिनी ने अपनी याचिका में कहा था कि उसने 22 फरवरी 2014 को सरकार को अभ्यावेदन दिया था जिसमें संविधान के अनुच्छेद 161 के तहत रिहाई की मांग की गई थी. उसने कहा कि रिहाई संबंधी उसकी याचिका राज्य सरकार की 1994 की स्कीम ऑफ प्रिमेच्योर रिलीज ऑफ लाइफ कन्विक्ट्स के अनुरूप है. नलिनी ने कहा कि वह इस स्कीम के तहत रिहा किए जाने के लिए पूरी तरह योग्य है.

वहीं पूर्व पीएम के बेटे और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी दोषियों की रिहाई पर कोई आपत्ति दर्ज नहीं की है.  वह कई बार कह चुके हैं कि वह इस मामले से आगे बढ़ना चाहते हैं और माफी ही सही रास्‍ता है. हाल ही में जर्मनी के दौरे पर उन्‍होंने कहा था कि वह और उनकी बहन लिट्टे प्रमुख प्रभाकरण की मौत से खुश नहीं थे.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर