• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • TAMIL NADU GOVERNOR PUROHIT INVITED STALIN TO FORM GOVERNMENT

तमिलनाडु : राज्यपाल पुरोहित ने स्टालिन को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया

डीएमके के अधयक्ष एम. के. स्टालिन (फ़ाइल फोटो)

Tamilnadu Government: बयान में कहा गया कि राज्यपाल पुरोहित ने उन्हें तमिलनाडु का मुख्यमंत्री नियुक्त करने के साथ मंत्रिमंडल गठन के लिए आमंत्रित किया और सात मई को सुबह नौ बजे राजभवन में शपथ ग्रहण समारोह होगा.

  • Share this:
    चेन्नई. तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित ने बुधवार को द्रमुक अध्यक्ष एमके स्टालिन (DMK Chief MK Stalin) को राज्य का मुख्यमंत्री नियुक्त किया और सरकार बनाने का न्योता दिया. राजभवन द्वारा बुधवार को दी गई जानकारी के मुताबिक विधायक दल का नेता चुने जाने का पत्र सौंपने के बाद राज्यपाल ने उन्हें यह जिम्मेदारी दी. शपथ ग्रहण राजभवन परिसर में सात मई को सुबह बजे होगा.

    पार्टी के वरिष्ठ नेताओं और महासचिव दुराईमुरुगन के साथ स्टालिन ने पुरोहित से मुलाकात की और उन्हें द्रमुक विधायक दल का नेता निर्वाचित किए जाने के संबंध में एक पत्र दिया तथा सरकार बनाने का दावा पेश किया. राजभवन के आधिकारिक बयान में कहा गया कि स्टालिन ने राजभवन आकर पुरोहित को वह पत्र सौंपा जिसमें उन्हें द्रविड मुनेत्र कड़गम विधायक दल का नेता चुनने की जानकारी दी गई थी.

    ये भी पढ़ें- ओरिजिनल वायरस जैसा ही संक्रमण पैदा कर रहा नया वैरिएंट, वैक्सीन कारगर: केंद्र

    बयान में कहा गया कि राज्यपाल पुरोहित ने उन्हें तमिलनाडु का मुख्यमंत्री नियुक्त करने के साथ मंत्रिमंडल गठन के लिए आमंत्रित किया और सात मई को सुबह नौ बजे राजभवन में शपथ ग्रहण समारोह होगा.



    स्टालिन जब राज्यपाल से मिलने गए तब द्रमुक कोषाध्यक्ष टी आर बालू, प्रधान सचिव के एन नेहरू और संगठन सचिव आर एस भारती भी उनके साथ मौजूद थे.

    डीएमके की सरकार में उप मुख्यमंत्री रह चुके हैं स्टालिन
    उल्लेखनीय है कि द्रमुक की पिछली सरकार (वर्ष 2006-11) में स्टालिन उप मुख्यमंत्री थे और उनके पिता एम करुणानिधि मुख्यमंत्री थी. इस प्रकार स्टालिन पहली बार राज्य के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे.

    ये भी पढ़ें- कोरोना संक्रमित NSG जवान को नहीं मिल सका ICU बेड, रास्ते में तोड़ दिया दम

    द्रमुक ने विधानसभा चुनावों में 133 सीटें जीती और कांग्रेस समेत उसके अन्य सहयोगियों ने 234 सदस्यीय विधानसभा में कुल 159 सीटें जीती हैं.

    अन्नाद्रमुक ने 66 सीटों पर जीत हासिल की है जबकि उसकी सहयोगी भाजपा और पीएमके ने क्रमश: चार और पांच सीटें जीती हैं.
    (Disclaimer: यह खबर सीधे सिंडीकेट फीड से पब्लिश हुई है. इसे News18Hindi टीम ने संपादित नहीं किया है.)
    Published by:Mahima Bharti
    First published: