Home /News /nation /

हेलिकॉप्टर हादसे के इकलौते जिंदा बचे ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह, अस्पताल में लड़ रहे जिंदगी-मौत की जंग

हेलिकॉप्टर हादसे के इकलौते जिंदा बचे ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह, अस्पताल में लड़ रहे जिंदगी-मौत की जंग

तमिलनाडु के कुन्नूर में हुए हेलिकॉप्टर हादसे में 13 लोगों की मौत के बाद पूरे देश में शोक की लहर है.

तमिलनाडु के कुन्नूर में हुए हेलिकॉप्टर हादसे में 13 लोगों की मौत के बाद पूरे देश में शोक की लहर है.

CDS Bipin Rawat Helicopter Crash: भारतीय वायु सेना का एमआई-17V5 हेलिकॉप्टर तमिलनाडु के कन्नूर में क्रैश हो गया. हादसे में सीडीएस जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका रावत समेत 13 लोगों की मौत हो गई. लेकिन भारतीय वायुसेना के ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह अभी जिंदगी और मौत से जूझ रहे हैं.

अधिक पढ़ें ...

    कन्नूर. तमिलनाडु के कन्नूर में भारतीय वायुसेना के एक हेलिकॉप्टर के दुर्घटनाग्रस्त (Tamil nadu Helicopter Crash) होने से चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत (CSC General Bipin Rawat Helicopter crash), उनकी पत्नी समेत 13 लोगों का निधन हो गया है. भारतीय वायुसेना ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर कहा, ‘बहुत ही अफसोस के साथ अब इसकी पुष्टि हुई है कि दुर्भाग्यपूर्ण दुर्घटना में जनरल बिपिन रावत, मधुलिका रावत और 11 अन्य की मृत्यु हो गई है.’ 14 लोगों में से एक शख्स इस हादसे में जिंदा बच गए हैं. वायुसेना के ट्वीट के मुताबिक, तमिलनाडु हेलिकॉप्टर हादसे में ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह (Gp Capt Varun Singh) जिंदा बच गए हैं और उनका इलाज सैन्य अस्पताल में चल रहा है. ट्वीट में कहा गया है कि फिलहाल ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह जिंदगी और मौत की जंग लड़ रहे हैं.

    ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह (Gp Capt Varun Singh) का करियर जांबाजी के कारनामों से भरा हुआ है. उन्होंने लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट और भारतीय वायुसेना की शान को अपनी जान पर खेल कर बचाया था. इसी साल स्वतंत्रता दिवस के मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने वरुण सिंह को शौर्य चक्र से सम्मानित किया था.

    एलसीए तेजस भारतीय वायुसेना का एक ऐसा विमान है जो आज तक दुर्घटना का शिकार नहीं हुआ है. हालांकि 12 अक्टूबर 2020 को एलसीए तेजस का यह रिकॉर्ड टूटते-टूटते बचा था. ये रिकॉर्ड टूटने से बचाने का सारा श्रेय ग्रुप कमांडर वरुण सिंह को जाता है. मिनिस्ट्री ऑफ डिफेंस की ओर से जारी किए बयान में कहा गया था कि कमांडर वरुण सिंह एलसीए तेजस की एक चेक स्योरिटी परफॉर्म कर रहे थे जहां पर उन्हें एक सिस्टम चेक शॉट देना था. जब उन्होंने टेक ऑफ किया तो सब कुछ सामान्य की तरह ही था. विमान जैसे ही 10 हजार फीट की ऊंचाई पर पहुंचा, तभी फ्लाइट कंट्रोल सिस्टम और लाइफ सपोर्ट सिस्टम में तकनीकी खामी आ गई.

    ये भी पढ़ेंः- जब स्कूल यूनिफार्म पहनकर स्कूल के फाउंडर्स डे कार्यक्रम में पहुंचे थे CDS जनरल बिपिन रावत

    इस स्थिति में ग्रुप कमांडर वरुण सिंह तुरंत एयरक्रॉफ्ट को हाई अल्टीट्यूड से लो अल्टीट्यूड पर लेकर आए. लेकिन तभी फ्लाइट कंट्रोल सिस्टम पूरी तरह से फेल हो गया. वरुण सिंह के पास दो ऑप्शन थे, एक या तो वो इजेक्ट कर जाएं या भीड़ वाले इलाके में विमान को गिरने से बचाएं. अपनी जान की परवाह न करते हुए वरुण सिंह ने काफी कोशिश के बाद एयरक्रॉफ्ट को लैंड करवाया था.

    Tags: Bipin Rawat, Bipin Rawat Helicopter Crash, Cds bipin rawat, General Bipin Rawat, Indian air force, Indian Air Force officer

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर