Home /News /nation /

लॉटरी के लिए 3 हजार, तस्‍करी के लिए 20 हजार: तमिलनाडु पुलिस के रिश्‍वत के रेट हुए वायरल

लॉटरी के लिए 3 हजार, तस्‍करी के लिए 20 हजार: तमिलनाडु पुलिस के रिश्‍वत के रेट हुए वायरल

तमिलनाडु पुलिस के रिश्‍वत के रेट हुए वायरल. (File pic)

तमिलनाडु पुलिस के रिश्‍वत के रेट हुए वायरल. (File pic)

Tamil Nadu Police: सलेम जिला पुलिस अधीक्षक एम श्री अभिनव की ओर से 6 अक्टूबर को जारी किए गए सर्कुलर में रिश्‍वत के रेट की जानकारी दी गई थी.

    चेन्‍नई. तमिलनाडु (Tamil Nadu) के सलेम जिला पुलिस अधीक्षक द्वारा जारी किए गए एक असामान्य सर्कुलर के जरिये पुलिस अफसरों द्वारा ली जाने वाली रिश्‍वत (Bribe) का पता चला है. इस सर्कुलर में भ्रष्ट पुलिस अधिकारियों (Tamil Nadu Police) के रिश्वत के रेट को बताया गया है. यह सर्कुलर अब सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है.

    सलेम जिला पुलिस अधीक्षक एम श्री अभिनव की ओर से 6 अक्टूबर को जारी किए गए सर्कुलर में सभी उप और सहायक पुलिस अधीक्षकों को भ्रष्ट पुलिस अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने और कड़ी सतर्कता बरतने और कड़े कदम उठाकर भ्रष्ट मुक्त प्रशासन सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है. यह भी कहा गया है कि गलती करने वाले अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

    इस सर्कुलर में हिंसा, तस्‍करी जैसे अन्‍य विभिन्न कारणों से जिलों में पुलिसकर्मियों की ओर से रिश्‍वत के तौर पर जुटाए जाने वाले की जानकारी दी गई है. सर्कुलर में कहा गया है कि सलेम जिले में एक रेत तस्कर 20,000 रुपये की रिश्वत देकर केस से बाहर निकल सकता है. नागरिक विवाद के मामले में पुलिस को 1 लाख रुपये तक की रिश्‍वत देकर मामले का निपटारा किया जा सकता है.

    यही नहीं, अवैध लॉटरी टिकटों की बिक्री से संबंधित मामलों में 3,000 रुपये से 5,000 रुपये तक की रिश्वत दी जा सकती है और अवैध या बिना लाइसेंस के चलने वाले बार के लिए 2,000 रुपये की रिश्वत के साथ पुलिस के मामले से बचा जा सकता है.

    आईपीएस अधिकारी ने पुलिस को मसाज पार्लर के नाम पर अवैध शराब बेचने वालों, रेत तस्करों, जुआघर चलाने और वेश्यावृत्ति करने वाले जैसे असामाजिक तत्वों से अवैध रूप से रिश्वत लेने वालों को चेतावनी दी है. यह सर्कुलर देखते ही देखते सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है और लोगों ने पुलिस विभाग को भ्रष्टाचार से मुक्त करने के उद्देश्य से इस कदम के लिए एसपी की सराहना की.

    Tags: Tamil nadu

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर